तीन तलाक के मसले पर पर्सनल लाॅ करेगी सरकार का विरोध

कोलकाता : तीन तलाक का मसला मुस्लिमों में विवादित बना हुआ है। दरअसल जहां केंद्र सरकार इसे समाप्त करने का प्रयास कर रही है तो दूसरी ओर मुस्लिम पर्सनल लाॅ बोर्ड इसे बनाए रखना चाहता है। मुस्लिम पर्सनल लाॅ बोर्ड ने तीन तलाक समाप्त किए जाने के प्रयासों के खिलाफ और समान नागरिक संहिता लागू करने के केंद्र सरकार की कोशिशों का विरोध करने की तैयारी कर ली है। दरअसल आॅल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लाॅ बोर्ड का तीन दिवसीय सम्मेलन कोलकाता में चल रहा है।

इस सम्मेलन के दूसरे दिन तीन तलाक को समाप्त किए जाने का विरोध हुआ। इस सम्मेलन में कहा गया कि मुस्लिम पर्सनल लाॅ बोर्ड सरकार के इस तरह के कदमों का विरोध करेगा। विरोध करने वालों में तृणमूल सांसद मोहम्मद सुल्तान प्रमुखतौर पर शामिल थे। उन्होंने कहा कि तीन तलाक के चलन को कायम रखने का निर्णय सभी के द्वारा लिया गया है। केंद्र सरकार द्वारा किए जाने वाले प्रयासों का जमकर विरोध किया जा जा रहा है।

इस मामले में मोहम्मद सुल्तान और उनके समर्थकों ने कहा कि तीन तलाक को समाप्त न किए जाने को लेकर एक हस्ताक्षर अभियान भी चलाया जा रहा है। लगभग 10 करोड़ मुस्लिम महिलाओं ने इस मामले में हस्ताक्षर कर तीन तलाक के नियम को अपना समर्थन दिया है। इस मामले में मुस्लिम पर्सनल लाॅ बोर्ड के अध्यक्ष मौलाना रबी हसनी नदवी ने कहा कि केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार मुसलमानों को बिना कारण परेशान करने में लगी है। मुसलमानों को देशविरोधी नहीं मानना चाहिए।

निकाह के तुरंत बाद हुआ तलाक, पुराने नोटों ने दूल्हे को बनाया बंधक

राष्ट्रीय महिला आयोग ने तीन तलाक का किया विरोध

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -