यूपी में शराबखोरी पर हो पूरी तरह से प्रतिबंध -मौलाना

लखनऊ: मुस्लिम संगठन ने अपनी एक पहल के द्वारा यूपी में शराब के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद की है सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक शराब के विरुद्ध बिगुल फूंकने वाले संगठन ‘इत्तेहाद-ए-मिल्लत काउंसिल’ के अध्यक्ष मौलाना तौकीर रजा खां ने बताया कि शराब के सेवन को लगभग सभी धर्मो में बुरा कहा गया है व हिंदू व मुस्लिम लोगो के लिए यूपी शुरू से ही एक आध्यात्मिक प्रदेश है. आगे दोहराया की मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से भी में राज्य में शराबबंदी को लेकर मुद्दा उठा चूका हु. शराबबंदी अभियान को प्रारंभ करने का निश्चय किया. ताकि दूसरे राज्यों को भी इसका संदेश जाए. 

मौलाना ने कहा की गुजरात जो की गांधीजी का जन्मस्थान है वहां पर शराबखोरी प्रतिबंधित हो सकती है तो उत्तरप्रदेश जो की राम व कृष्ण के राज्य में इसे क्यों नही लागु किया जा सकता है. मौलाना ने आगे दोहराया की मुसलमानों की वजह से शराब महंगी हो गई है हिन्दुओं के कारण मांस की कीमतें बढ़ गई हैं. यह बात वह एक पूर्व में एक सार्वजनिक मंच से दोहरा चुके है. उन्होंने कहा की उत्तरप्रदेश में शराबखोरी पर हर तरीके से प्रतिबंध लगाना होगा.  

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -