देखते ही देखते मुस्लिम लड़की ने श्रीमद्भगवत गीता पढ़ सुनाई

Feb 16 2016 04:02 PM
देखते ही देखते मुस्लिम लड़की ने श्रीमद्भगवत गीता पढ़ सुनाई

मेरठ : पहले श्रीमद्भगवत गीता कंठस्थ तरीके से उन्हें याद हुआ करती थी जिनके परिवार में लोग गीता का पारायण किया करते थे या फिर जहां पूजन - अर्चन का कार्य होता था। मगर अब ये मायने बदल रहे हैं। अब तो श्रीमद्भगवत गीता मुस्मिल परिवारों में भी याद की जाने लगी है। दरअसल ऐसी ही एक लड़की सामने आई है जो कि दृष्टिबाधित है। इसका नाम जेहरा है। इसका कहना है कि उसे पूरी श्रीमद्भागवत गीता कंठस्थ याद है। श्रीमद्भगवत् गीता को वे वर्षों से पढ़ती आ रही हैं। दरअसल श्रीमद्भगवद् गीता को कंठस्थ करने के लिए न तो उसने गीता पढ़ने का प्रयास किया और न ही ब्रेल लिपि का सहारा लिया।

उसके शिक्षक ने उसे श्रीमद्भगवत् गीता पढ़कर सुनाई और उसे गीता के श्लोक याद करवा दिए। ब्रिज मोहन स्कूल में पड़ने वाली तीसरी कक्षा की छात्रा जेहरा ने बताया कि उनके लिए यह बात मायने नहीं रखती कि वह किस ईश्वर को पूज रही है क्योंकि वह उन्हें कभी देख नहीं पाएगी। उनका कहना था कि ईश्वर की आराधना करना उसे पसंद है। फिर चाहे वह गीता पढ़ कर करूं या फिर कुरान पढ़कर वह की जाना जरूरी है।

संस्थान के प्रधानाध्यापक प्रवीण शर्मा ने कहा कि उन्होंने विचार किया कि बच्चों को इस प्रतियोगिता में भागीदारी करना चाहिए। उन्होंने पंडितों से बीता पाठ सीखा फिर इसे बच्चों को सिखाया। जेहरा को पाठ सीखाया और उसने प्रतियोगिता में श्रीमद्भगवत गीता पूरी सुनाई।