मुस्कान बर्दास्त नही होती

& quot;आईना भी टूटकर कह गया मूझ से अब ये तेरी झूठी मुस्कान बर्दास्त नही होती"

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -