मुरथल दुष्कर्म मामले की जांच संवेदनशील मोड़ पर, स्पेशल इनवेस्टीगेशन टीम की मांग के बाद जज के चैंबर में की सुनवाई

Sep 02 2016 02:26 AM
मुरथल दुष्कर्म मामले की जांच संवेदनशील मोड़ पर, स्पेशल इनवेस्टीगेशन टीम की मांग के बाद जज के चैंबर में की सुनवाई

चंडीगढ़: मुरथल में हुए दुष्कर्म मामले की जाँच अब काफी संवेदनशील मोड़  पर पहुच गई है. इसी सिलसिले में  गुरुवार को स्पेशल इनवेस्टीगेशन टीम की तरफ से कोर्ट रूम में सुनवाई न कर जज के चैंबर में सुनवाई की मांग की गई. जिसके बाद जस्टिस एसएस सारों व जस्टिस लीजा गिल ने मांग को स्वीकार करते हुए एसआई प्रमुख को चैंबर में बुलाकर सुनवाई की.

सुनवाई के बाद में उन्होंने कहा कि जांच संवेदनशील मोड़ पर है लिहाजा जांच पूरी करने के लिए एसआईटी की तरफ से मांगा गया समय दिया जा रहा है.
मामले पर 22 सितंबर को सुनवाई होगी. मामले की पिछली सुनवाई पर कोर्ट में हरियाणा सरकार की तरफ से कहा गया था कि पुलिस ने 5 संदिग्धों को हिरासत में भी लिया है.

इन पर लूटपाट करने के आरोप हैं। इनके डीएनए टेस्ट कराया गया है और रिपोर्ट का इंतजार है. एडीशनल सोलिस्टर जनरल ऑफ इंडिया तुषार मेहता ने कोर्ट में कहा कि जांच पूरी करने के लिए समय दिया जाए जिसे स्वीकार कर लिया गया.