छिटपुट घटनाओ के बीच कोलकत्ता में हुआ नगर निगम चुनाव

Apr 18 2015 03:59 PM
छिटपुट घटनाओ के बीच कोलकत्ता में हुआ नगर निगम चुनाव
style="text-align: justify;">पश्चिम बंगाल/कोलकत्ता : कोलकाता में शनिवार को नगरनिगम चुनाव के लिए जारी मतदान में तेजी देखी जा रही है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि हिंसा की छिटपुट खबरों के बीच प्रथम चार घंटों में 35 फीसदी मतदाता वोट डाल चुके हैं। अधिकारी ने बताया, "पूर्वाह्न् 11 बजे तक 35.20 फीसदी मतदान हो चुका है। हमें छिटपुट हिंसा की कुछ सूचनाएं मिली हैं, लेकिन कोई बड़ी घटना सामने नहीं आई है। अब तक मतदान शांतिपूर्ण रूप से चल रहा है।"

हालांकि शहर के विभिन्न हिस्सों से सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) और मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के नेतृत्व वाले वाममोर्चा के कार्यकर्ताओं के बीच टकराव होने की खबरें मिली हैं। कुछ स्थानों पर मीडिया कर्मियों पर भी हमले हुए हैं। विपक्षी दलों का आरोप है कि सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस मतदान एजेंटों और मतदाताओं को डरा-धमका रही है, जिससे मतदान प्रभावित हो रहा है।

वहीं तृणमूल ने इन आरोपों का खंडन किया है। मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के नेता राबिन देब ने कहा, "कोलकाता नगरनिगम चुनाव तमाशा बन गया है। हमारे मतदाताओं को डराया जा रहा है और मतदान एजेंटों पर हमला किया गया और उन्हें हटाया गया।" तृणमूल कांग्रेस नेता और नगरनिगम मामलों के मंत्री फरहद हाकिम ने हालांकि, इन आरोपों को बकवास करार दिया है। हाकिम ने कहा, "मैं सभी लोगों से अपील करूंगा कि वे निडर होकर वोट देने आएं।

विपक्ष आतंक का नाम लेकर घबराहट पैदा करने की कोशिश कर रहा है, लेकिन अबतक न तो किसी भी व्यक्ति को गोली लगी है, न ही कोई बम विस्फोट हुआ है।" सुरक्षित मतदान के लिए से 30,000 पुलिसकर्मियों और केंद्रीय अर्धसैनिक बलों की तीन टुकड़ियां तैनात की गई हैं और पहली बार ड्रोन के माध्यम से मतदान प्रकिया की हवाई निगरानी की जा रही है।

कुल 37,42,019 मतदाताओं के लिए 4,704 मतदान केंद्र स्थापित किए गए हैं, जिनमें 17.52 लाख महिलाएं हैं। इस बार मतदाता सूची में 20 मतदाता तृतीय लिंग से हैं। नगरनिगम चुनाव में 1,077 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं।