'मुझे ज़हर देकर मार सकते हैं...', बाँदा जेल में फिर अटकी 'डॉन' मुख़्तार अंसारी की सांसें

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के बांदा जेल में सजा काट रहे मुख्तार अंसारी ने एक बार फिर अपनी जान को खतरा बताया है। मुख्तार ने MP MLA स्पेशल कोर्ट में वर्चुअल पेशी के दौरान अपनी हत्या की आशंका जताई है। मुख़्तार ने कहा कि उसे खाने में जहर देकर भी मारा जा सकता है। क्योंकि सरकार ‘खफा’ चल रही है। उन्होंने उच्च श्रेणी की सुविधा को लेकर कोर्ट में पत्र भी दिया।

मुख़्तार अंसारी के वकील रणधीर सिंह सुमन के मुताबिक, मुख़्तार अंसारी ने वीडियो-कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए आयोजित एक सुनवाई के दौरान बाराबंकी के विशेष सत्र न्यायाधीश कमलकांत श्रीवास्तव से ये आग्रह किया। मुख्तार ने कहा कि, 'राज्य सरकार मुझसे नाराज़ है। ऐसे में हो सकता है कि मुझे खाने में जहर दे दिया जाए।' उसने आगे कहा कि यदि उसे जेल में उच्च श्रेणी मिल जाती है, तो उसके मन से भय खत्म हो जाएगा। माफिया मुख़्तार अंसारी के वकील ने कोर्ट में दलील दी कि उसका क्लाइंट उच्च श्रेणी का कैदी है, मगर राज्य सरकार और जिला मजिस्ट्रेट जेल में मुख्तार अंसारी को उच्च श्रेणी की सुविधा नहीं दे रहे हैं।

इसलिए उन्होंने अदालत से अनुरोध किया कि वह अंसारी को यह सुविधा देने के लिए अपनी शक्तियों का उपयोग करें। मुख्तार के वकील ने बताया कि जेल मैनुअल के तहत उच्च श्रेणी उपलब्ध करवाने की अर्जी दी थी। उन्होंने बताया कि मुख्तार को उच्च श्रेणी सुरक्षा देने के मामले में सुनवाई के लिए अगली तारीख सात अक्टूबर मुक़र्रर की गई है। वकील ने बताया कि जज ने कहा है कि वो इस मामले में शीघ्र फैसला लेंगे।

जापान सरकार कोविड के टीकाकरण के लिए न्यूनतम आयु कम करने पर कर रही विचार

आरबीआई ने मुंबई स्थित अपना सहकारी बैंक पर लगाया इतने लाख रुपये का जुर्माना

आन्ध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने अस्पतालों में 14,200 पदों पर भर्ती को दी मंजूरी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -