माफिया मुख़्तार अंसारी की तबियत अचानक बिगड़ी, कड़ी सुरक्षा में ले जाया गया अस्पताल

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के बांदा जेल में बंद बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के पूर्व MLA मुख्तार अंसारी की तबीयत बिगड़ने की खबर सामने आ रही है। उन्हें मेडिकल कॉलेज में एडमिट किया गया। हालाँकि, उन्हें क्या समस्या थी, इस बात का स्पष्ट खुलासा नहीं हो सका। आज ही एक जानलेवा हमले के केस में जिन लोगों ने मुख्तार की जमानत कराई थी, अब उन्होंने जमानत भी वापस ले ली है।

इस पर कोर्ट ने अभियुक्त मुख्तार को पुनः कस्टडी में लेने का आदेश दिया है। मुख्तार अंसारी के खिलाफ वर्ष 2009 में गाजीपुर में जानलेवा हमला और आपराधिक षडयंत्र का मामला दर्ज हुआ था। उस केस में अंसारी को 28 अगस्त 2010 को उच्च न्यायालय से जमानत मिली थी। 
वहीं अचानक से अंसारी की तबियत बिगड़ने की खबर भी आई, बीमारी का कोई खास खुलासा नहीं हुआ है लेकिन, कड़ी सुरक्षा के बीच मुख्तार का उपचार हुआ। मेडिकल कॉलेज में दाँतों के विशेषज्ञ समेत चार सदस्यीय टीम ने उनका उपचार किया। फिर उन्हें 4:30 वापस जेल भेज दिया। जेल अधीक्षक एके सिंह ने बताया कि मुख्तार अंसारी के दाँत में बहुत दिनों से दर्द था। इसकी शिकायत उन्होंने एमपी-एमएल कोर्ट में पेशी के समय भी की थी। 4 दिन पहले अदालत से आदेश आया था कि उनका उपचार दंत विशेषज्ञ से कराया जाए। 

इसी को देखते हुए सुरक्षा-व्यवस्था के इंतजाम पूरे होने पर उन्हें मंगलवार दोपहर तीन बजे बांदा मेडिकल कॉलेज ले जाया गया, जहाँ करीब 40 मिनट तक उपचार चला। साढ़े चार बजे उन्हें वापस जेल में लाया गया। बता दें कि पहले कुछ रिपोर्ट्स में अंसारी की हालत नाजुक बताई गई थी। कहा जा रहा था कि आज ही अंसारी की तबीयत ख़राब हुई और इस बाबत उच्च अधिकारियों को सूचित किया गया। इसके बाद फ़ौरन सुरक्षा पहुँची और अंसारी को मेडिकल कॉलेज में भर्ती किया गया। मेडिकल कालेज में पुलिस और PAC के दस्ते भी तैनात किए गए। हालाँकि, अब पता चला है कि ये जाँच उनके दाँत दर्द को लेकर थी।

नेशनल लेवल खो-खो प्लेयर की दुष्कर्म के बाद हत्या, दांत भी गायब... आरोपित शहजाद गिरफ्तार

पेट्रोल-डीजल की कीमतों में 10 दिनों से नहीं हुआ कोई बदलाव, जानिए आज का भाव

जानिए क्या है दूरदर्शन का इतिहास?

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -