भाजपा-कांग्रेस में बढ़ी तकरार, कमलनाथ बोले- 'सरकार स्थिति स्पष्ट करें कि वह आखिर चाहती क्या है'

भोपालः पंचायत चुनाव को मध्य प्रदेश में लेकर आए दिन कोई नया आदेश जारी हो रहा है, अब निर्वाचन आयोग ने पंचायत चुनाव के नतीजों की कार्रवाई को रद्द करने का आदेश जारी किया है। कहा जा रहा है कि पंचायत चुनाव में OBC आरक्षित सीटों पर प्रतिबंध लगा हुआ है, ऐसे में चुनाव आयोग ने परिणाम की प्रक्रिया पर पाबंदी लगा दी है। जिस पर पूर्व सीएम कमलनाथ ने सवाल उठाए हैं। 

दरअसल, पंचायत चुनाव को लेकर निर्वाचन आयोग ने बड़ा कदम उठाते हुए परिणाम की प्रक्रिया पर पाबंदी लगा दी है। निर्वाचन आयोग की ओर से बताया गया कि OBC आरक्षित सीटों पर चुनाव होने के पश्चात् परिणाम एक साथ जारी किए जाएंगे। जिस पर कमलनाथ ने एतराज व्यक्त किया है, उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि ''अब मध्य प्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग ने त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में मतगणना के सारणीकरण एवं निर्वाचन नतीजों के ऐलान संबंधी कार्रवाई को रद्द कर दिया है। पता नहीं राज्य में पंचायत चुनावों पर असमंजस तथा अनिश्चितता कब ख़त्म होगी?।''

वही कमलनाथ ने कहा कि ''सरकार ने सदन में भरोसा दिलाया था कि बिना OBC आरक्षण के राज्य में पंचायत चुनाव नहीं होंगे, नित नए आदेशों से असमंजस की स्थिति बढ़ती जा रही है। सरकार स्थिति स्पष्ट करें कि वह आखिर चाहती क्या है, सरकार OBC आरक्षण पर क्या फैसले लेने जा रही है, कोर्ट कब जा रही है, क्या निर्णय ले रही है?। दरअसल, पंचायत चुनाव को लेकर भाजपा एवं कांग्रेस में तकरार बढ़ती जा रही है। दरअसल, सर्वोच्च न्यायालय के निर्देश के पश्चात् मध्य प्रदेश निर्वाचन आयोग ने पंचायत चुनाव पर पाबंदी लगा रही है, ओबीसी आरक्षण को लेकर राज्य में राजनीतिक खीचतान मची हुई है। ऐसे में जब तक OBC आरक्षित सीटों पर हालात स्पष्ट नहीं हो जाते, तब तक पंचायत चुनाव के परिणाम पर निर्वाचन आयोग ने रोक लगा दी है। यानि जिला पंचायत सदस्य, जनपद पंचायत सदस्य के नतीजों पर रोक जारी रहेगी। 

समय से पहले संसद सत्र समाप्त होने पर आई जया बच्चन की प्रतिक्रिया, कही ये बात

असम और मेघालय के कांग्रेस सांसदों ने की पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की

'सदन में चाक़ू लेकर आते हैं मोदी-शाह..,' निलंबित होने पर भड़के TMC सांसद डेरेक ओ ब्रायन

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -