सांसद तेजस्वी सूर्या ने संसद से किये ये सवाल

सांसद तेजस्वी सूर्या ने संसद से किये ये सवाल

अभी बेंगलुरु की राजनीति में हलचल पैदा हो गई है। बेंगलुरु दक्षिण से संसद सदस्य, एक युवा और ऊर्जावान बालक, तेजस्वी सूर्या ने मंगलवार को केंद्र सरकार से पूछा कि क्या वह सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (एसडीपीआई) और भारत के लोकप्रिय मोर्चे (पीएफआई) के राजनीतिक संगठनों पर प्रतिबंध लगाने के बारे में सोच रहे है? 11 अगस्त को पूर्वी बेंगलुरु में हुए भीड़ हमले में उन्होंने दावा किया था। बीजेपी के युवा सांसद ने संसद में यह अडिग सवाल पूछा और कहा कि एसडीपीआई से जुड़े कई गुंडों ने पुलिस अधिकारियों पर हमला किया और संपत्ति को नुकसान पहुंचाया।

वही अतारांकित प्रश्न का लिखित जवाब दिया गया है और संसद में मौखिक रूप से संदर्भित नहीं किया जाता है। तेजस्वी सूर्या ने अपने सवाल में पूछा, "क्या सरकार हाल ही में बेंगलुरु के डीजे हल्ली और केजी हल्ली पुलिस स्टेशनों में हुई घटनाओं के बाद एसडीपीआई, पीएफआई और अन्य संगठनों जैसे राजनीतिक संगठनों पर प्रतिबंध लगाने पर विचार कर रही है, जहां एसडीपीआई से जुड़े कई विधायकों ने पुलिसकर्मियों पर हमला किया और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुँचा? "

साथ ही उनका सवाल आगे भी जारी रहा, "क्या सरकार इस्लामिक यूथ फेडरेशन (TUGVA) के साथ अपने कथित गठबंधन के लिए जमात-ए-इस्लामी संगठन के छात्र संगठन स्टूडेंट इस्लामिक ऑर्गनाइजेशन (SIO) जैसे इस्लामिक संगठनों के खिलाफ कार्रवाई करने का प्रस्ताव रखती है, जो कट्टरपंथी फंडिंग के लिए कुख्यात है?" भारत में इस्लामिक आतंकवाद? " केंद्र सरकार ने दोनों सवालों के जवाब में कहा, "जब और जैसा आवश्यक हो, उन संगठनों के खिलाफ कानून के अनुसार कानूनी कार्रवाई की जाती है जिनकी गतिविधियों का राष्ट्रीय सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था पर असर पड़ता है।"

विकास के लिए इसराइल ने इन देशों के साथ की संधि

बेंगलुरु दंगे के लिए कर्नाटक के सीएम से मुस्लिम नेताओं ने की ये मांग

सभी आठ सीटों पर उपचुनाव लड़ेगी बसपा: मायावती