मंगल पाण्डेय बालिदान दिवस पर CM शिवराज सिंह चौहान ने किया कोटि-कोटि प्रणाम

Apr 08 2021 01:39 PM
मंगल पाण्डेय बालिदान दिवस पर CM शिवराज सिंह चौहान ने किया कोटि-कोटि प्रणाम

भोपाल: आप सभी जानते ही होंगे हर साल 8 अप्रैल को मंगल पाण्डेय बालिदान दिवस के रूप में मनाया जाता है। आपको हम यह भी बता दें कि आज का दिन भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के इतिहास में स्वर्ण अक्षरों में दर्ज है। जी दरअसल अंग्रेजी शासन के खिलाफ मंगल पांडे ने बगावत का झंडा बुलंद किया था और आज ही के दिन उन्हें फांसी दी गई थी। आज ही के दिन क्रांतिकारी भगत सिंह और बटुकेश्वर दत्त ने दिल्ली असेंबली में बम फेंका था। अब आज CM शिवराज सिंह चौहान ने मंगल पाण्डेय के बलिदान दिवस पर ट्वीट किया है।

उन्होंने ट्वीट कर कहा है- '1857 में देश में आजादी की पहली चिंगारी सुलगाने वाले महान क्रांतिकारी मंगलपांडे के बलिदान दिवस पर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। देश को आजाद कराने के लिए अपना सर्वोच्च बलिदान देने वाले वीर सपूत को कोटि-कोटि प्रणाम।' इसी के साथ उनके अलावा मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी ट्वीट किया है और कहा है- 'भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के नायक मंगल पांडे के बलिदान दिवस पर शत-शत नमन, उन्होंने ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ क्रांति का आगाज़ कर देश की आजादी की नींव रखी। मां भारती के प्रति उनका त्याग और बलिदान सदैव स्मरणीय रहेगा।'

आपको हम यह भी बता दें कि भारत को स्वतंत्रता दिलवाने में ऐसे बहुत से महानायकों का नाम दर्ज है, जिन्होंने अपनी जान तक न्यौछावर कर दी। आपको हम यह भी बता दें कि अंग्रेज कारतूस में गाय और सूअर की चर्बी का इस्तेमाल करते थे, मंगल पांडेय को जैसे ही इस बात का पता लगा उन्होंने अंग्रेज अधिकारियों के सामने आपत्ति दर्ज कराई, लेकिन उनकी बात नहीं सुनी गई। यह सब होने के बाद मंगल पांडेय ने भारतीय सैनिकों को इसकी खबर दी और उन्हें विद्रोह के लिए तैयार किया। उसके बाद अंग्रेज सैन्य अधिकारी ह्यूसन और लेफ्टिनेन्ट बॉब को मंगल पांडेय ने इसी विरोध के चलते मौत दे दी।

योगी आदित्यनाथ का तीखा हमला, बोले- दंगाइयों में TMC को दिखता है वोट बैंक

भारत दौरे पर आने वाले हैं जापान के पीएम योशिहिदे

कोरोना के बढ़ते केस हो देखकर बोले स्वास्थमंत्री- "लोगों की लापरवाही से बढ़ा कोरोना।।।"