फिल्म रिव्यु : तमाशा

फिल्म रिव्यु : तमाशा

बॉलीवुड में रॉकस्टार, जब वी मेट, लव आज कल और हाइवे जैसी बेहतरीन फिल्मो का निर्देशन कर चुके बॉलीवुड निर्देशक इम्तियाज अली की फिल्म तमाशा आज सिनेमाघरो में मटरगस्ती करने को तैयार है. फिल्म की कहानी इम्तियाज के टच के साथ दिखाई देगी. फिल्म एक अलग ही प्रकार की लव स्टोरी है. तमाशा में लगातार हिट फिल्मे देने वाली अभनेत्री दीपिका पादुकोण और तीन फ्लॉप फिल्मो के बाद एक हिट फिल्म की तलाश में लगे हुए अभिनेता रणबीर कपूर मुख्य भूमिका में है.

अगर बार की जाए फिल्म की कहानी की तो फिल्म वेद ( रणबीर कपूर ) और तारा ( दीपिका पादुकोण ) के इर्द गिर्द घूमती है. वेद अपने परिवार की इच्छाओ को पूरा करने के लिए उनके हिसाब से जिंदगी जीता है. जिससे उसके सपने एक कहानी बनकर रह जाते है. लेकिन वह जब तारा से एक आइलैंड पर मिलता है तो वह उसके साथ अपने हिसाब से लाइफ जीना चाहता है. इस तरह दोनों एक दूसरे से झूट कहते है. और साथ में घूमते है और एक दूसरे से एक सप्ताह बाद कभी न मिलने का वादा करते है.

लेकिन कहानी में ट्विस्ट तो तब आता है जब तारा वेद को ढूंढने निकलती है और जब वेद उसे मिलता है तो वह पूरी तरह बदला हुआ एक प्रोडक्ट मेनेजर के रूप मिलता है. इस दौरान वेद तारा को प्रपोज करता है लेकिन वह उसे इंकार कर देती है. दोनों की ये लव स्टोरी क्या कभी पूरी होगी. यही जानने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी. फिल्म के निर्देशन की बाद की जाए तो कहानी पूरी तरह इम्तियाज के द्वारा गड़ी हुई लगती है.

जो की काफी मनोरंजक है. लेकिन फिल्म का दूसरा हाफ थोड़ा सुस्त और कमजोर लगता है. जो की बोर करने लगता है. एक्टिंग की बात करे तो रणबीर और दीपिका ने बेहतरीन अभिनय से सिद्ध कर दिया कि क्यों उन्हें बॉलीवुड की नई जनरेशन का शाहरुख़-काजोल कहा जाता है. फिल्म के गाने पहले ही हिट हो चुके है. फिल्म में संगीत ए आर रहमान ने दिया है. अगर आप एक अलग हटके लव स्टोरी देखना चाहते है और रणबीर-दीपिका की मटरगस्ती के दीवाने है तो फिल्म जरूर देखे.