चीन का दावा, माउंट एवेरेस्ट ने बदली अपनी दिशा

बीजिंग : नेपाल में आए भूकम्प ने अपनी तबाही से हर जगह को हिला कर रख दिया था, इससे लोगों के दिल में ना केवल डर बल्कि एक ऐसा खौफ पैदा हो गया कि जिसने भी यह भयावह नजारा देखा वह खुद के अंदर के डर को नहीं रोक पाया. इस भूंकप से लोगो का पलायन शुरू हो गया. गौरतलब है कि नेपाल भूकम्प की तीव्रता रिएक्टर स्केल पर जहाँ 7.8 मापी गयी थी वहीँ यह उतना खतरनाक भी साबित हुआ. इसने धरती को ना केवल हिला कर रख दिया बल्कि एक जगह से दूसरी जगह पर खिसकने के लिए भी मजबूर कर दिया था. इस भूंकप ने माउंट एवरेस्ट तक को अपनी जगह से खिसका दिया. जी हाँ माउंट एवरेस्ट अपनी जगह से 3 सेंटीमीटर दक्षिण-पूर्व की तरफ खिसक गया है. जबकि यह बताया जा रहा है कि इससे पहले माउंट एवरेस्ट उत्तर-पूर्व की तरफ खिसक रहा था.

हाल ही में चीन के नेशनल एडमिनिस्ट्रेशन ऑफ सर्वेइंग, मैपिंग एंड जियो इन्फॉर्मेशन ने यह दावा पेश किया है कि एवरेस्ट दक्षिण-पूर्व की तरफ खिसका है. लेकिन साथ ही चीन के द्वारा यह भी कहना है कि माउंट एवरेस्ट की बस जगह बदली है उसकी ऊंचाई पर इसका किसी भी तरह से असर नहीं हुआ है और वह पहले की तरह 8,848 मीटर ऊंचा ही है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -