हमको था इंतजार वो घड़ी आ गई।

हमको था इंतजार वो घड़ी आ गई।

होकर सिंह पर सवार माता रानी आ गई।

होगी अब मन की हर मुराद पूरी

हरने सरे दुख माता अपने द्वार आ गई।

 
- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -