तालिबानी राज में अपने बच्चों को कंटीले तारों पर फेंक रही माताएं...मांग रहीं जिंदगी की भीख

काबुल: अफगानिस्तान पर कब्जा करने के बाद कैमरे पर ‘समान अधिकारों’ की बात करने वाला आतंकी संगठन तालिबान अब अपना असली वहशी रंग दिखाने लगा है। काबुल हवाई अड्डे से लेकर जलालाबाद की सड़कों पर तालिबान आतंकियों का कहर देखा जा सकता है। इसके साथ ही महिलाओं की स्वतंत्रता को लेकर भी जो बातें तालिबान ऑन टीवी कर रहा है, जमीनी हकीकत उसके ठीक उलट है।

 

अफगानी लोग, खासकर महिलाएँ वहाँ अपनी जिंदगी की भीख माँगने के लिए विवश हैं। इसकी कुछ तस्वीरें काबुल हवाई अड्डे पर देखने को मिली, जहाँ महिलाएँ इतनी डरी हुईं थीं कि वो बदहवास हालात में विदेशी सैनिकों से आग्रह कर रही थीं कि उन्हें तालिबान से बचा लिया जाए। वह अपने बच्चे को काँटेदार तार के दूसरी तरफ फेंक रही थीं, बगैर ये विचार किए कि इससे उन्हें चोट लग सकती है। हवाई अड्डे पर तैनात एक अधिकारी कहते हैं कि, 'सभी माताएं काफी परेशान थीं, उन्हें तालिबान मार रहा था। वह चिल्ला रही थीं ‘मेरे बच्चे को बचाओ’ और इतना कहकर वह अपने बच्चे हमारी तरफ फेंक रहीं थीं। कुछ बच्चे कांटेदार तार पर गिर रहे थे। ये सब काफी हृदयविदारक था। रात होते-होते स्थिति ऐसी हो गई कि शायद ही कोई एक आदमी हो जो उस वक़्त रो न रहा हो।”

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, घटना से संबंधित वीडियोज भी सामने आई हैं। इनमें देख सकते हैं कि कैसे एक माँ अपना बच्चा तार के दूसरी तरफ उछाल रही है, शायद उसे भरोसा है कि दूसरी तरफ खड़े विदेशी सैनिक उन्हें बचा लेंगे। बता दें कि इससे पहले तालिबानियों ने जलालाबाद में अंधाधुंध गोलीबारी की थी, जिसमें कम से कम 3 लोगों के मरने और 6 के जख्मी होने की बात सामने आई थी। इस दौरान कई पत्रकारों से भी मारपीट की गई थी।

अमरुल्लाह सालेह ने पाकिस्तान को दी खुली धमकी, तालिबान को लेकर भी कही बड़ी बात

World Athletics Under 20: भारत की 4x400m मिक्स्ड रिले टीम ने जीता ब्रोंज मेडल

तालिबान को बड़ा झटका, IMF ने रोकी अफगानिस्तान को मदद

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -