Mothers Day : जानिए हर साल अलग-अलग दिन ही क्यों मनाया जाता है मदर्स डे

मां का कोई एक दिन नहीं होता है क्योकि मां भगवान का दिया एक ऐसा अनमोल तोहफा होता है जो किस्मत वालों को ही नसीब हो पाता है. मां को पूजने के लिए या उनका सम्मान करने के लिए कोई एक दिन नहीं बल्कि साल के पुरे 365 दिन ही होते है. लेकिन फिर भी मां के लिए एक खास दिन तय किया गया है जिसे 'मदर्स डे' के तौर पर जाना जाता है. जी हाँ... मदर्स डे जो इस साल 13 मई को आने वाला है.

अब आप भी ये ही सोच रहे होंगे कि बाकी के सभी दिन की साल में एक तारीख फिक्स रहती है लेकिन मदर्स डे क्यों हर साल अलग-अलग तारीख को मनाया जाता है. तो चलिए हम आपको बता देते है कि हर साल मदर्स डे अलग-अलग दिन आता है. दरअसल मदर्स डे मई महीने के दूसरे संडे (रविवार) को सेलिब्रेट किया जाता है. इसलिए हर साल मई महीने के दूसरे रविवार को जो भी तारीख आती है उस दिन को मदर्स डे के तौर पर मनाया जाता है.

मदर्स डे के लिए सभी बच्चें पहले से ही खास प्लानिंग कर लेते है. कुछ लोग अपनी मां को अनोखे और खास सरप्राइज़ देते है और कुछ मां को कही खास ट्रिप पर या हॉलिडे के लिए ले जाते है. वैसे मां का मन इतना अनमोल होता है कि अगर उसका बच्चा उसे कोई तोहफा ना दें तो भी मां के मन में अपने बच्चें के लिए उतना ही प्यार रहता है जितना पहला था.

मां.... तो जन्नत का फूल है और प्यार करना ही उसका उसूल है

Mother's Day : जानिए क्यों और कब से हुई थी मदर्स डे की शुरुआत

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -