मातृभाषा ने मनाया हिन्दी महोत्सव 2022, कई राज्यों के साहित्यकार हुए शामिल

इन्दौर/ब्यूरो। भारत में हिन्दी भाषा के विस्तार और प्रसार के लिए कार्य करने वाले मातृभाषा उन्नयन संस्थान द्वारा हिन्दी महोत्सव 2022 का आयोजन किया गया, जो पूरे सितम्बर महीने मनाया गया। हिन्दी महोत्सव 2022 के अंतर्गत देश के विभिन्न शहरों में कई कार्यक्रम आयोजित किए गए एवं संस्थान द्वारा डिजिटल रूप से प्रतिदिन हिन्दी की विभिन्न विधाओं की प्रतियोगिताएँ आयोजित भी की गईं, जिसमें प्रतिभागियों को प्रमाणपत्र व चयनित विशिष्ट रचनाकारों को उपहार प्रदान किए गए। 

संस्थान की दिल्ली एवं इंदौर इकाई द्वारा आयोजित हिन्दी माँ के पूजन से हिन्दी महोत्सव 2022 का शुभारंभ हुआ। इसके बाद इन्दौर, भोपाल, उज्जैन, रायपुर, बिलासपुर, दिल्ली सहित कई शहरों में लघुकथा मन्थन, प्रतिभा सम्मान, विद्या रत्न सम्मान, बाल काव्य रत्न सम्मान व संगीत, काव्य गोष्ठी, कवि सम्मेलन, पुस्तक विमोचन इत्यादि कई आयोजन हुए। इसी के साथ मातृभाषा.कॉम द्वारा पूरे माह डिजिटल प्रतियोगिताएँ भी आयोजित की गईं, जिसमें सैंकड़ो साहित्यकारों ने हिस्सा लिया।

संस्थान की राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष शिखा जैन ने बताया कि 'हिन्दी भाषा का प्रचार ही हमारा ध्येय है, उसी को केंद्रित कर हिन्दी महोत्सव 2022 का आयोजन किया गया। इसमें देश के प्रत्येक राज्यों से साहित्यकारों ने सहभागिता करके इस उत्सव को महोत्सव बनाया है। महोत्सव का संयोजन संस्थान की राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य भावना शर्मा ने किया। उन्होंने कहा कि 'डिजिटल रूप से आयोजित राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में असम, बंगाल, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, राजस्थान, दिल्ली, मध्यप्रदेश, मेघालय, गुजरात, उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, हिमाचल, बिहार, झारखण्ड सहित विभिन्न प्रान्तों के लगभग 1000 से अधिक प्रतिभागियों ने हिस्सेदारी करते हुए विजेता भी बने। इस समय संस्थान के माध्यम से देश के लगभग 25 राज्यों के साहित्यकार आपस में जुड़े हुए हैं।

ज्ञात हो कि मातृभाषा उन्नयन संस्थान हिन्दी को राष्ट्रभाषा बनाने के लिए प्रतिबद्धता से कार्य कर रहा है। इसी तारतम्य में संस्थान द्वारा विगत तीन वर्षों से लगातार सितम्बर माह में पूरे माह का हिन्दी महोत्सव मनाया जाता है। संस्थान के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. अर्पण जैन 'अविचल' ने सभी प्रतिभागियों को प्रमाणपत्र प्रदान कर शुभकामनाएँ दीं। साथ ही, संस्थान की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ.नीना जोशी, राष्ट्रीय सचिव गणतंत्र ओजस्वी, राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य नितेश गुप्ता, सपन जैन 'काकड़ीवाला', प्रेम मंगल, गौरव साक्षी ने सभी प्रतिभागियों को सहभागिता के लिए उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हुए शुभकामनाएँ प्रेषित की। सितम्बर माह के अंतिम दिन हिन्दी महोत्सव का समापन हुआ।

दरिंदगी का शिकार हुए 'मेल निर्भया' की मौत, 4 आरोपियों ने किया था गैंगरेप, प्राइवेट पार्ट में डाली थी रॉड

नसीरुद्दीन से लेकर अमिताभ तक किसी ने कार तो किसी ने पानी में छोटी उम्र की एक्ट्रेस संग किया रोमांस

केदारनाथ के पास गिरा बर्फ का पहाड़, वीडियो देखकर काँप जाएंगे आप

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -