तंदरुस्त और निरोगी शिशु के लिए मां को लेना चाहिए प्रोटीन

शरीर में प्रोटीन की आवश्यकता हर उम्र और हर अवस्था में होती है। गर्भावस्था के दौरान मां के साथ बच्चे को स्वस्थ रहने के लिए प्रोटीन बहुत जरूरी है इसलिए इस अवस्था मे प्रोटीन का सेवन करना चाहिए। प्रोटीन डाइट को ध्यान में रखकर दिन में 2 बार प्रोटीन युक्त आहार लेना चाहिए। शरीर को सही मात्रा में आवश्यक प्रोटीन्स लेने के लिए कई तरह की चीज़े खानी चाहिए। स्वस्थ, तंदरूस्त और निरोगी शिशु होना बहुत जरूरी है इसलिए आहार मे प्रोटीन युक्त आहार लें और अपने आप को भी स्वस्थ बनाएं। प्रोटीन सम्बन्धी जानकारी निचे दी गई है। 

प्रेगनेंसी -
गर्भावस्था में मां के साथ गर्भ में पल रहे बच्चे को भी प्रोटीन्स की अत्यधिक जरुरत होती है। प्रोटीन्स शरीर में पल रहे बच्चे के विकास के लिए बहुत जरुरी होता है। इस अवस्था में प्रोटीन की कमी मां और बच्चे पर बुरा असर डाल सकती है। 

बच्चे को दूध पिलाना -
जिस प्रकार गर्भावस्था में मां को प्रोटीन्स की अधिक जरुरत होती है ठीक उसी प्रकार दूध पिलाने वाली मां को भी इसकी बहुत जरुरत होती है। इस अवस्था में ऐसी महिलाओं को ज्यादा मात्रा में प्रोटीन का सेवन करना चाहिए। 

बचपन में -
बचपन में बच्चों को प्रोटीन्स की अधिक आवश्यकता होती है क्योंकि उस टाइम पर उनका शरीर विकास कर रहा होता है। 

हॉर्मोन्स -
प्रोटीन्स कुछ हॉर्मोन्स के निर्माण में मदद करते है जैसे इन्सुलिन जो की रक्त में शुगर की मात्रा को नियंत्रित करता है। इसके साथ ही थाइरोइड हॉर्मोन की स्वस्थ गतिविधि में भी मदद करता है। 

बुढ़ापा  -
बुढ़ापे में भी शरीर को इसकी बहुत जरुरत होती है। इस उम्र में यदी प्रोटीन की मात्रा कम हो तो जीवन शक्ति का अभाव हो जाता  है, इसलिए इस उम्र में खाद्य पदार्थ में प्रोटीन की मात्रा बढ़ा देनी चाहिए। 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -