टेस्ट मैच में इन गेंदबाज़ों का चलता है बोलबाला

एक पारी में किसी भी गेंदबाज के लिए 5 विकेट लेना कोई सरल कार्य नहीं है. ये अपने आप में एक बड़ी उपलब्धि है, जिसे किसी भी गेंदबाज की कामयाबी से जोड़कर देखा जाता है. हालांकि ये कारनामा बार बार करने वाले कुछ ही गेंदबाज हुए हैं, इसीलिए उन चुनिंदा गेंदबाजों के बारे में आज हम आपको अपनी इस खास पेशकश में बताने जा रहे हैं, जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा बार पारी में 5 विकेट लेकर ये कीर्तिमान स्थापित किया है.

मुथैया मुरलीधरन: पूरी संसार के बल्लेबाजों को अपनी फिरकी पर नचाने वाले श्रीलंका की टीम के सबसे महान गेंदबाज मुथैया मुरलीधरन (Muttiah Muralitharan) ने टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट लिए हैं. उन्होंने अपने 18 वर्ष के लंबे करियर में 133 टेस्ट मैचों में भाग लिया जिनमें उन्होंने 800 विकेट अपने नाम दर्ज किए. मुरली जब मैदान पर बॉल के साथ दिखाई देते थे तो सामने वाली टीम के बल्लेबाजों को लगता था कि वो कहीं जाकर छुप ही जाएं. मुरली की गेंदबाजी की धुन पर संसार का हर बल्लेबाज नाचा करता था. मुरलीधरन ने 67 बार टेस्ट क्रिकेट में पारी में 5 विकेट लेने का कारनामा कर इस लिस्ट में पहले नंबर पर अपनी स्थान बनाई है, साथ ही उन्होंने 22 बार मैच में 10 विकेट भी चटकाए हैं.

शेन वॉर्न: लेग स्पिन के बादशाह शेन वॉर्न (Shane Warne) की कलाई में जादू था. बड़े से बड़े बल्लेबाज उनकी घूमती हुई गेंदों के सामने घुटने टेक देते थे. कहते हैं साधारण गेंदबाजों के पास एक ओवर में 6 भिन्न-भिन्न तरह की बॉल डालने के लिए नहीं होतीं, लेकिन वॉर्न के गेंदबाजी तरकश में 23 भिन्न-भिन्न तरह की गेंदें थी जिसमें गुगली, फ्लिपर, टॉप स्पिनर आदि शामिल हैं. शेन वार्न ने 145 टेस्ट मैचों में 708 विकेट अपने नाम किए व 37 बार पारी में 5 विकेट लिए. इसके अतिरिक्त वॉर्न ने 10 बार मैच में 10 विकेट अपने नाम किए.

अनिल कुंबले: टीम इंडिया के सबसे सफल गेंदबाज अनिल कुंबले (Anil Kumble) को क्रिकेट के इ्तिहास में उनके जज्बे के लिए सदा याद किया जाएगा. कुंबले ने अपने 18 वर्ष के लंबे करियर में भारतीय टीम को ना जाने कितने मैचों में जीत दिलवाई. कुंबले अपनी गजब की गेंदबाजी से सामने वाली टीम के बल्लेबाज की नाक में दम कर दिया करते थे. अनिल कुंबले ने अपने करियर में 132 टेस्ट खेले जिनमें उन्होंने 35 बार पारी में 5 विकेट चटके. इतना ही नहीं कुंबले के नाम पर पारी में 10 विकेट लेने का रिकॉर्ड भी दर्ज है व ऐसा करने वाले वो संसार के दूसरे गेंदबाज हैं. कुंबले से पहले इंग्लैंड के जिम लेकर ने इस कारनामें को कर दिखाया था.

रिचर्ड हैडली: इस लिस्ट में एक ही तेज गेंदबाज का नाम है जो हैं न्यूजीलैंड के पूर्व ऑलराउंडर रिचर्ड हैडली (Richard Hadley). अपने दौर में यानि 70- 80 के दशक में उन्होंने हमेशा ही अपनी तेज गति से क्रिकेट की संसार के लगभग हर बल्लेबाज को अपना निशाना बनाया. हैडली ने अपने क्रिकेट करियर में कुल 86 टेस्ट मैचों में भाग लिया व उनमें 36 बार पारी में 5 विकेट लिए. आपको यहां ये भी बता दें कि हैडली ने अपने शानदार करियर में 431 विकेट चटकाए हैं.

रंगना हेराथ: श्रीलंका के बाएं हाथ के स्पिनर रंगना हेराथ (Rangana Herath) ने अपने करियर का शुरुआती दौर मुथैया मुरलीधरन की छाया में गुजारा. टीम से मुरली के रिटायरमेंट के बाद रंगना ने ही श्रीलंका की गेंदबाजी की कमान संभाली. हेराथ लगभग हर मैच में सामने वाली टीम के बल्लेबाजों के छक्के छुड़ा दिया करते थे. इसी कारण हर टीम के बल्लेबाज उनकी गेंदबाजी से घबरा जाते थे. रंगना हेराथ ने अपने करियर में 93 टेस्ट मैचों में 34 बार पारी में 5 विकेट लिए. इसके अतिरिक्त हेराथ ने 9 बार मैचों में 10 विकेट भी लिए. आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि श्रीलंका के बाएं हाथ के इस शानदार स्पिनर के नाम पर टेस्ट क्रिकेट में 433 विकेट दर्ज हैं.

जानिए आखिर क्यों VIVO से हर साल BCCI को मिलते है 440 करोड़ रुपये

सौरव गांगुली ने इस गेंदबाज़ को लेकर किया हैरान करने वाला खुलासा

पहली ही गेंद पर सचिन और द्रविड़ हो गए थे आउट, फिर इस तरह से बदला भाग्य

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -