दिल्ली में कोरोना ने फिर पकड़ी तेजी, सामने आए इतने संक्रमित

नई दिल्ली: राजधानी में 2 हप्तों से कोविड के केस निरंतर तेजी से बढ़ रहे हैं. सरकारी हॉस्पिटल के साथ-साथ निजी हॉस्पिटल में भी मरीजों का आंकड़ा अब बढ़ रही है. हॉस्पिटल का कहना है कि इस माह मरीजों  का आंकड़ों में 30 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई है. जिनमे से ज्यादातर दिल्ली से बाहर के हैं.  दिल्ली में जुलाई से लेकर 17 अगस्त कर संक्रमण के मरीजों का आंकड़ा कम होने लगा था. इस बीच हॉस्पिटल में भर्ती होने वाले मरीज भी घटकर ढाई हजार से कम हो गए थे, लेकिन अब यह आंकड़ा चार हजार के पास पहुंच गया है. अपोलो (सरिता विहार), मैक्स (साकेत), फोर्टिस (शालीमार बाग), सर गंगाराम सिटी और सर गंगाराम कोलमेट (पूसा रोड) जैसे बड़े अस्पतालों कोरोना मरीजों का इलाज किया जा रहा है. 

अपोलो हॉस्पिटल के डॉक्टर राजीव चावला ने बताया कि  हॉस्पिटल में भर्ती 50 प्रतिशत से अधिक मरीज दिल्ली से बाहर के हैं. यूपी और बिहार में संक्रमण के केस बढ़ रहे हैं. वहां के मरीज को उपचार के लिए हॉस्पिटल से संपर्क कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि राजधानी में ज्यादातर मरीजों का होम क्वारंटाइन में ही उपचार चल रहा है, इसलिए हॉस्पिटल में दिल्ली से बाहर के मरीजों का आंकड़ा ज्यादा है.  मैक्स हॉस्पिटल के डॉक्टर किशोर ने बताया कि हॉस्पिटल में भर्ती 80 प्रतिशत से अधिक मरीज अन्य राज्यों से हैं. डॉ किशोर ने बताया कि मरीजों की बढ़ने से अब ICU के बेड भी भरते जा रहे हैं. ICU में भी ज्यादातर मरीज उत्तर प्रदेश,हरियाणा और बिहार से हैं. 

मरने वालों में भी 45 प्रतिशत दिल्ली से बाहर के: इस महीने कोरोना के हॉस्पिटल में हुई मौतों में से 45 प्रतिशत मरीज दिल्ली से बाहर के है. स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक,अगस्त में कोरोना संक्रमण से  425 मरीजों की मौत हुई है. जिसमे से 190 अन्य राज्यों से आए मरीज थे. 

सप्ताह के दिन हरे निशान में खुला शेयर बाजार, सेंसेक्स में 508 अंकों की बढ़त

NABARD में सहायक प्रबंधक के पदों पर निकली भर्तियां, वेतन 100000 रु

EPFO का बड़ा दावा- जून महीने में संगठित क्षेत्र में मिलीं 6.55 लाख नौकरियां

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -