ताइवान की हवाई सीमा में गरजे चीन के 20 से अधिक फाइटर जेट

ताइवान की हवाई सीमा में गरजे चीन के 20 से अधिक फाइटर जेट

ताइपे: अमेरिका और ताइवान की दोस्‍ती से तिलमिलाया चीन अब पड़ोसी द्वीप को बलप्रयोग से कब्‍जे में करने की तैयारी कर रहा है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक, चीनी फाइटर जेट विमानों के ताइवान स्ट्रेट की मध्य रेखा को पार करने की जानकारी मिली थी। खबरें सामने आई हैं कि ताइवान के एफ-16 ने 20 से ज्यादा युद्धक विमानों ने उड़ान भरी थी।

चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी एयर फोर्स (PLAAF) ने लड़ाकू विमानों के कई बैचों को मध्य रेखा के पास ताइवान स्ट्रेट पर ट्रेनिंग प्रैक्टिस में शामिल होने के लिए भेजा। यह दोनों देशों के बीच अनौपचारिक सीमा है। शेनयांग जे-11 और चेंग्दू जे-10 लड़ाकू विमान के एक बैच ने ताइवान के F-16 फाइटर जेट द्वारा भगाए जाने से पहले मध्य रेखा को पार कर लिया। लिबर्टी टाइम्स ने सैन्य सूत्रों का हवाला देते हुए कहा कि 20 से ज्यादा चीनी युद्धक विमान मध्य रेखा के उत्तरी और दक्षिणी-पश्चिमी छोर पर युद्धाभ्यास में लगे हुए थे। इन विमानों ने फ़ुज़ियान प्रांत के झांगझू, वुइशान और शुइमेन में PLAAF कैम्प्स से उड़ान भरी।

बहुसंख्यक कम्युनिस्ट फाइटर जेट्स ने मध्य रेखा के पश्चिम में उड़ान भरी, लेकिन एक बैच ने पूर्व की तरफ उड़ान भरी और उस पर पार हो गया। ताइवान के विमानों ने तेजी से PLAAF विमानों को रोक दिया और उन्हें ताइवान के हवाई क्षेत्र से बाहर खदेड़ दिया जबकि शेष चीनी जेटों ने पश्चिम में अपना अभ्यास जारी रखा।

'पैक फ़ूड' में पाया गया कोरोना ! WHO ने जारी किया बड़ा बयान

विश्व ओजोन दिवस : धरती से 30 किलोमीटर ऊपर क्या है ख़ास, जानिए इसका महत्व ?

भारतीयों की एंट्री को लेकर नेपाल सरकार ने सख्त किए नियम, दोनों देशों में और बढ़ेगा तनाव