Moody's की रिपोर्ट में भारत को झटका, आर्थिक वृद्धि को लेकर आई बुरी खबर

नई दिल्ली: मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने आज बुधवार को वर्ष 2021 के लिए भारत की आर्थिक वृद्धि के अनुमान को घटाकर 9.6 फीसद कर दिया है, जो पिछले अनुमान के अनुसार 13.9 फीसद था. मूडीज ने साथ ही कहा कि तेजी से टीकाकरण की वजह से जून तिमाही में आर्थिक प्रतिबंध सीमित होंगे.

मूडीज ने 'व्यापक अर्थशास्त्र- भारत: कोविड की दूसरी लहर से आर्थिक झटके पिछले साल की तरह गंभीर नहीं होंगे' शीर्षक वाली रिपोर्ट में कहा है कि उच्च आवृत्ति वाले आर्थिक संकेतक बताते हैं कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर ने अप्रैल और मई में भारत की इकॉनमी को प्रभावित किया है. हालांकि, राज्यों द्वारा प्रतिबंधों में रियायत देने के साथ इसमें सुधार की संभावना है. रिपोर्ट में कहा गया कि वायरस की वापसी से 2021 में भारत की आर्थिक वृद्धि में पूर्वानुमानों को लेकर अनिश्चितता बढ़ी है, हालांकि यह संभावना है कि वित्तीय नुकसान अप्रैल-जून तिमाही तक ही सीमित रहेगा.

मूडीज ने आगे कहा कि, 'हमें वर्ष 2021 में भारत की वास्तविक GDP 9.6 फीसद और 2022 में 7 प्रतिशत की दर से बढ़ने की उम्मीद है.'  बता दें कि भारतीय अर्थव्यवस्था 2020-21 में 7.3 फीसद घटी है, जबकि इससे पिछले वित्त वर्ष के दौरान चार फीसद का इजाफा हुआ था.

इनहेलेशन उत्पाद के लिए यूएसएफडीए की मंजूरी मिलने से ग्लेनमार्क फार्मा का स्टॉक बढ़ा

इंडिगो एयरलाइन ने टीके लगाने वाले यात्रियों को फ्लाइट टिकट पर छूट देने का किया एलान

रिकॉर्ड टीकाकरण पर चिदंबरम का तंज, कहा- इसके लिए मिल सकता है नोबल पुरस्कार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -