रेटिंग एजेंसी मूडीज ने इस सरकारी बैंक को किया पॉजिटिव आउटलुक

नई दिल्लीः देश में चल रही मंदी के कारणों में बैंकिंग सेक्टर का फेल होना भी अहम कारण है। उद्योग का बैंकों पर आरोप है कि वह बिजनेस के लिए लोन नहीं दे रही है। एनपीए के कारण बैंकों की हालत खराब हुई है। सरकारी क्षेत्र की बैंक पीएनबी को इसका तगड़ा नुकसान हुआ है। लेकिन पीएनबी के लिए एक राहत भरी खबर आई है। वैश्विक रेटिंग एजेंसी मूडीज ने बुधवार को पंजाब नेशनल बैंक के आउटलुक को 'स्टेबल' से सुधार कर 'पॉजिटिव' कर दिया।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने घोषणा की थी कि ओरिएंटल बैंक ऑफ कामर्स (ओबीसी) और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया का पंजाब नेशनल बैंक में विलय किया जाएगा। मूडीज ने इसके साथ ही केनरा बैंक, ओबीसी, सिंडीकेट बैंक और यूनियन बैंक की स्थानीय और विदेशी मुद्रा जमा की रेटिंग को बीएए3..पी-3 को लेकर फिर पुष्टि की है। मूडीज इनवेस्टर्स सर्विस ने कहा है कि उसने पीएनबी की स्थानीय और विदेशी मुद्रा जमा की रेटिंग को बीए1..एनपी को लेकर दृढता जताई है।

इसके साथ ही बैंक के बुनियादी कर्जलाइन आकलन को लेकर भी एजेंसी दृढ है। एजेंसी ने केनरा बैंक, ओबीसी, सिंडीकेट बैंक और यूनियन बैंक का परिदृश्य भी स्थिर रखा है। मूडीज का कहना है कि सरकार की ओर से बैंक में नई पूंजी डाले जाने के बाद बैंक के मूलाधार कर्ज आकलन (बीसीए) में सुधार आएगा और कुल मिलाकर बैंक की वित्तीय स्थिति धीरे धीरे बेहतर होगी।

पेट्रोल और डीजल की कीमतों में गिरावट, जानें नई कीमत

भारत का भविष्य उज्जवल, मंदी जैसी कोई बात नहीं

अगस्त माह में सेवा सेक्टर के विकास दर में आई गिरावट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -