इस कारण फैला मंकीपॉक्स, WHO एक्सपर्ट ने किया दावा

नई दिल्ली: दुनियाभर में तेजी से फैल रहे मंकीपॉक्स संक्रमण को लेकर WHO परेशान है। WHO के अनुसार, ऑस्ट्रेलिया, बेल्जियम, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, नीदरलैंड, पुर्तगाल, स्पेन, स्वीडन, यूके तथा यूएस में मंकीपॉक्स के केस सामने आये हैं। WHO ने कहा है कि मंकीपॉक्स के मामलें और बढ़ सकते हैं। जिसपर WHO निगाहें बनाये हुए हैं।

वही मंकीपॉक्स तब फैलता है जब कोई शख्स किसी अन्य शख्स, जानवर या वायरस से संक्रमित के कांटेक्ट में आता है। वायरस त्वचा, रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट या आंख, नाक तथा मुंह के माध्यम से शरीर में प्रवेश कर सकता है। मानव-से-मानव में ये सामान्य रूप से रेस्पिरेटरी ड्रॉपलेट्स के माध्यम से ही फैलता है। पशु से मनुष्यों में ये काटने या खरोंच के फैल सकता है। मंकीपॉक्स सेक्स के चलते भी एक इंसान से दूसरे में फैल सकता है तथा इसको लेकर WHO एक्सपर्ट ने एक हैरान कर देने वाला दावा कर दिया है।

WHO के प्रमुख सलाहकार ने विकसित देशों में दुर्लभ बीमारी मंकीपॉक्स के फैलाव को अनोखी घटना बताया है। साथ ही उन्होंने यूरोप में हाल में हुईं दो रेव पार्टी में हुई सेक्सुअल एक्टीविटीज को मंकीपॉक्स प्रसार का संभावित कारण बताया है। WHO के इमरजेंसी डिमार्टमेंट के हेड रहे डॉ। डेविड हेमन ने कहा कि यौन संबंधों के कारण इस बीमारी का फैलाव हुआ है। WHO विशेषज्ञों का कहना है कि स्पेन एवं बेल्जियम में आयोजित दो रेव पार्टी में समलैंगिकों तथा अन्य लोगों के बीच सेक्सुअल एक्टीविटीज के कारण बीमारी का प्रसार हुआ है। मंकीपॉक्स पहले अफ्रीका के बाहर नहीं फैला था, जहां पर ये स्थानीय स्तर बीमारी थी। हेमन ने कहा, हम जानते हैं कि मंकीपॉक्स तब फैल सकता है, जब संक्रमित के करीबी संपर्क में कोई आता है तथा यौन संबंधों के कारण इस बीमारी का प्रसार और बढ़ जाता है।

दिसंबर में मनाना है हनीमून तो भारत की यह जगह होंगी सबसे रोमांटिक

IPL में तो रहे हिट, लेकिन टीम इंडिया में नहीं हो पाए 'फिट' ! संजू सेमसन में BCCI को क्या कमी दिख गई ?

1 माह तक बढ़ा छत्तीसगढ़ से गुजरने वाली 34 ट्रेनों का निरस्तीकरण, CM बघेल ने बताया षड्यंत्र

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -