नूपुर शर्मा करे तो ईशनिंदा, लेकिन वही काम अगर 'मोहम्मद ज़ुबैर' करे तो...

नई दिल्ली: अगर कोई चोर किसी दूसरे व्यक्ति पर चोरी का आरोप लगाए तो उसे आप क्या कहेंगे ? कुछ ऐसा ही हुआ है प्रोपेगंडा वेबसाइट Altnews के सह संस्थापक मोहम्मद ज़ुबैर के साथ। बता दें कि, मोहम्मद ज़ुबैर वही हैं, जिन्होंने नूपुर शर्मा के एक कथित बयान का मुद्दा बनाकर दुनियाभर में ईशनिंदा का हंगामा मचा दिया था। जबकि, बहस के उस वीडियो में यह स्पष्ट दिख रहा है कि, नूपुर शर्मा पलटवार कर रही हैं। यानी, जब बार-बार मुस्लिम पैनेलिस्ट द्वारा शिवलिंग को लेकर अपमानजनक टिप्पणी की जा रही थी, तब अपने आराध्य का अपमान होते देख नूपुर शर्मा ने जवाब देते हुए कहा था कि, यदि आप ऐसा कहेंगे तो हम भी पैगम्बर पर 'ऐसा' कह सकते हैं। लेकिन शिवलिंग के अपमान का मामला पूरी तरह दब गया और पैगम्बर विवाद पर दुनियाभर के मुस्लिमों को भड़का दिया गया। देश के मुस्लिमों के साथ ही इस्लामी मुल्कों ने भी प्रतिक्रिया देने से पहले यह देखना उचित नहीं समझा कि, विवाद की शुरुआत किस तरफ से हुई और किसने किसके धर्म का अपमान करना शुरू किया।  

 

अब जब दिल्ली पुलिस ने धार्मिक भावनाएं भड़काने के नाम पर मोहम्मद ज़ुबैर को गिरफ्तार किया है, तो जुबैर का हिन्दफोबिया भी सारी परतें उघाड़ते हुए सामने आने लगा है। खुद हिन्दू घृणा से सने हुए ज़ुबैर ने किस तरह नूपुर शर्मा के वीडियो को एडिट कर इसे मुद्दा बनाया और दुनियाभर में भारत को अपमानित करने का कुत्सित प्रयास किया। शायद, ज़ुबैर को भी लग गया था कि उनकी हिन्दू घृणा उन्हें फंसवा सकती है, इसीलिए वे अपने पुराने ट्वीट डिलीट करने में लग गए, यहाँ तक कि अपना फेसबुक अकाउंट तो उन्होंने पूरा ही डिलीट कर दिया।  लेकिन ट्विटर यूजर The Hawk Eye (@thehawkeye) ने हिंदू देवताओं और मान्यताओं का मजाक उड़ाते हुए मोहम्मद जुबैर के कुछ पोस्ट का कोलाज बनाकर सोशल मीडिया पर साझा कर दिया है, जिसे अब हर कोई देख सकता है। हॉक आई ने जुबैर के ट्वीट के स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा है कि, 'दूसरों के भगवान, धर्म, संस्कृति और शास्त्रों का मजाक बनाना सरल है, क्योंकि इसका कोई अंजाम देखने को नहीं मिलता है। विडंबना यह है कि यह ट्वीट उसी व्यक्ति ने किया है, जिसने एक ऐसी घटना को मुद्दा बनाकर पूरे देश को अशांत कर दिया और हिंसक तबाही अभी भी जारी है।'

द हॉक आई द्वारा साझा किए गए एक ट्वीट में, जुबैर ने शिवलिंग का मज़ाक उड़ाते हुए और वेटिकन सिटी के टॉप व्यू से इसकी तुलना की है। वहीं, एक अन्य ट्वीट में ज़ुबैर ने हिन्दुओं के आराध्य हनुमान जी का मज़ाक बनाया है। ‘अनऑफिशियल मोहम्मद जुबैर’ की एक पोस्ट में पानी के नीचे के हवाई जहाज को साथ दिखाया गया है। जिसमें जुबैर ने लिखा है कि, 'ब्रेकिंग: रावण द्वारा 5000 साल पहले इस्तेमाल किया गया अंडरवाटर पुष्पक विमान हिंद महासागर में पाया गया।' ‘अनऑफिशियल मोहम्मद जुबैर’ पर एक पोस्ट में भगवान राम का मज़ाक उड़ाने के लिए अरुण गोविल का नाम इस्तेमाल किया गया है। इसमें जुबैर ने कहा है कि ISRO को अरुण गोविल से सलाह लेना चाहिए, क्योंकि वह रॉकेटरी/विमान के बारे में ज्यादा जानते हैं। यही नहीं, ज़ुबैर के समर्थकों ने भी हिन्दू देवी-देवताओं और हिन्दुओं की आस्था का मज़ाक बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। यहाँ गौर करना जरुरी है कि, हिन्दू धर्म का अपमान करने वाले ये वही लोग हैं, जो अपने धर्म के बारे में एक शब्द सुनने पर ही 'सर तन से जुदा' चिल्लाने लगते हैं और देश जलाने के लिए सड़कों पर उतर आते हैं। 

बता दें कि फेक न्यूज़ फैलाने के आरोपी मोहम्मद जुबैर के भड़काने के बाद से भाजपा की पूर्व राष्ट्रीय प्रवक्ता नुपुर शर्मा को मुस्लिम कट्टरपंथियों द्वारा लगातार हत्या और बलात्कार की धमकियां दी जा रही है। उनकी हत्या करने वालों को ईनाम देने तक का ऐलान किया गया है। जुबैर के भड़काने के बाद कट्टरपंथियों ने देश में कई जगहों पर हिंसा और आगजनी को अंजाम दिया है। ऐसे में सवाल यह है कि नूपुर शर्मा पर ईशनिंदा का आरोप लगाकर छाती पीटने वाले जुबैर क्या अपने गिरेबान में भी झाँककर देखेंगे ? बहरहाल, ज़ुबैर को गिरफ्तार कर लिया गया है, लेकिन उन्हें कोई सजा मिलेगी, इस पर संशय है ? हालाँकि, वामपंथियों और कट्टरपंथियों को बचाने के लिए बड़े-बड़े वकीलों का तुरंत सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट पहुँच जाने का पुराना इतिहास रहा है। अब देखना ये है कि कपिल सिब्बल और अभिषेक मनु सिंघवी जैसे वकील कब जुबैर को बचाने के लिए कोर्ट में डेरा डालते हैं ?

'हिंदुफोबिया' का शिकार मोहम्मद जुबैर गिरफ्तार, धार्मिक भावनाएं भड़काने का आरोप

अग्निपथ: चाहे पूरा देश जल जाए, बस किसी तरह सत्ता मिल जाए...

गांधी की आड़ लेकर उपद्रवियों ने फूंक डाले देश के '50 लाख करोड़' रुपए ! GPI की रिपोर्ट में खुलासा

 

     

 

 

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -