मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति को ब्रिटेन ने कहा शरणार्थी

मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति को ब्रिटेन ने कहा शरणार्थी

लंदन : मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद को ब्रिटेन ने एक शरणार्थी का दर्जा दिया है। यह जानकारी खुद नशीद के कार्यालय ने सोमवार को दी। 49 वर्षीय नशीद विवादास्पद आतंकवाद के आऱोपों में बीते वर्ष जेल में डाल दिए गए थे, लेकिन जेल में उनकी तबीयत खराब हो गई थी। जिसके बाद उन्हें स्पाइनल कॉर्ड की सर्जरी के लिए जनवरी में लंदन जाने की अनुमति दी गई थी।

नशीद का दावा है कि राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन के खिलाफ निर्वासित रहते हुए कार्य करने के अलावा उनके पास और कोई विकल्प शेष नहीं था। उनकी वेबसाइट पर जारी एक बयान में कहा गया है कि मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद को ब्रिटेन में शरणार्थी का दर्जा दिया गया है। नशीद 2008 में पहले लोकतांत्रिक और निर्वाचित राष्ट्रपति बने थे और सत्ता पलटने से पहले चार साल तक राष्ट्रपति के पद पर बने रहे थे।

उन्हें कथित रूप से भ्रष्ट एक जज की 2012 में गिरफ्तारी के संबंध में आतंकवाद के आरोपों में 13 साल की जेल की की सजा सुनाई गई। उस समय वह सत्ता में थे। नशीद ने अपने बयान में कहा कि राष्ट्रपति यामीन ने प्रत्येक विपक्षी नेता को जेल में डाल दिया और उनका विरोध करने वाले हर व्यक्ति का दमन किया।