मोगा छेड़छाड़ मामला - प्रशासन पर लगे कार्रवाई में ढिलाई के आरोप

May 01 2015 10:17 AM
मोगा छेड़छाड़ मामला - प्रशासन पर लगे कार्रवाई में ढिलाई के आरोप

पंजाब/मोगा : पंजाब के मोगा में बीते समय आॅर्बिट बस कंपनी की एक बस में सामने आई छेड़छाड़ की घटना को लेकर पीडित़ परिवार ने प्रशासनिक अधिकारियों और पुलिसकर्मियों पर मामले को रफा - दफा करने का आरोप लगाया। हादसे में मारी गई लड़की के पिता ने आरोप लगाया है कि पुलिस ने उनसे जबरदस्ती कुछ दस्तावेजों पर हस्ताक्षर करवा लिए हैं।

छेड़छाड़ की घटना के बाद उपजे विवाद में लड़की के मारे जाने और महिला के घायल हो जाने के बाद पीडि़ता के परिवार के सदस्यों ने प्रशासन और पुलिस की उदासीनता के खिलाफ प्रदर्शन किया। मामले में आरोपियों को पकड़ लिया गया है। दूसरी ओर विपक्ष द्वारा मुख्यमंत्री श्री बादल और उनके परिवार के विरूद्ध राजनीति तेज कर दी गई है।

दूसरी ओर केंद्र सरकार ने मामले को लेकर पंजाब की राज्य सरकार से जवाब मांगा है। कहा जा रहा है कि बादल परिवार के परिचित की बस होने के कारण कार्रवाई को लेकर उदासीनता बरती जा रही है। बताया जा रहा है कि जिस बस में छेड़छाड़ की घटना हुई उसका मालिकाना हक सांसद हरसिमरत कौर के पास है।

उल्लेखनीय है कि पीडि़ता अपने बच्चों के साथ गुरूद्वारे जार रही थी इस दौरान बस में मौजूद 6 से 7 बदमाशों ने उन्हें चलती बस से नीचे फैंक दिया। बस चालक ने बस रोकने तक की कोशिश नहीं की। बहुत देर के बाद पीडि़तों को चिकित्सकीय सेवाऐं मिल सकी हैं।