पाकिस्तान को मोदी से सीखना चाहिए, नवाज वहां कर क्या रहे हैं

इस्लामाबाद: आखिर अब पाक ने भी स्वीाकर कर लिया की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पॉपुलैरिटी अमेरिका में जबरदस्त है। वह उनका एक स्टार की तरह भव्य स्वागत किया जा रहा है। वहीं, पाकिस्तानी पीएम नवाज शरीफ के पीछे तो कोई नजर ही नहीं आता। एक समाचार पत्र ‘द नेशन ने अपने एडिटोरियल में लिखा है- नवाज शरीफ आखिर वहां कर क्या रहे हैं? पाकिस्तान को मोदी से सीखना चाहिए जो वक्त की नजाकत को समझ रहे हैं।

मोदी से मिलने वाले सीईओज : एप्पल के टिम कुक, फेसबुक के मार्क जकरबर्ग, माइक्रोसॉफ्ट के सत्या नडेला, गूगल के सुंदर पिचाई। वे 4.5 ट्रिलियन डॉलर नेट वर्थ वाले फॉर्च्यून-500 में शामिल में 50 सीईओज़, मीडिया इंडस्ट्रीज़ के 12 और फाइनेंशियल कंपनियों के 8 सीईओज से मुलाकात कर चुके हैं। फेसबुक में टाउनहॉल और गूगल के ऑफिस का उनका दौरा सुर्खियों में रहा। वे बांग्लादेश की पीएम और जॉर्डन के किंग से भी मुलाकात कर चुके हैं।

कितने लीडर्स मिले नवाज से : दूसरी तरफ, नवाज शरीफ की अब तक सिर्फ माइक्रोसॉफ्ट के फाउंडर बिल गेट्स और टेलिनॉर के सीईओ फ्रेडरिक बैकसास से ही मुलाकात हुई है। इनके अलावा वे यूनाइटेड नेशंस जनरल सेक्रेटरी बान की मून, जर्मनी की चांसलर एंगेला मर्केल और श्रीलंका के प्रेसिडेंट एम श्रीसेना से ही मिले हैं।

समाचार पत्र लेख में लिखा है, मोदी तेज दिमाग वाले पॉलिटिशियन हैं। सामने वाले पर कैसे असर जमाये यह उन्हें अच्छी तरह आता है। पीएम मोदी को अमेरिका में किसी स्टार की तरह रिसीव किया गया। मोदी 2 दिन सिलिकॉन वैली में रहे। इस दौरान मोदी ने दूनिया की टॉप कंपनियों के सीईओज से मुलाकात की। उन्होंने फेसबुक के कार्यालय में लोगों के सवालों के जवाब भी दिए। 30 वर्षो के बाद कोई भारतीय नेता वेस्ट कोस्ट गया है। मोदी अब तक 350 बिजनेस लीडर्स के लिए डिनर होस्ट कर चुके हैं। मोदी जिनसे मिले हैं, उनमें गूगल, माइक्रोसॉफ्ट और एडोब सिस्टम्स के सीईओज भी थे, जो भारत से ही हैं। मोदी ने इन सभी लोगों से भारत के विकास में सहायता मांगी है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -