अब 'मेड इन अमेठी' AK-203 राइफल से दुश्मनों का सफाया करेंगे जवान, मोदी सरकार ने दी मंजूरी

नई दिल्ली: केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने उत्तर प्रदेश के अमेठी में 5 लाख से ज्यादा एके-203 असॉल्ट राइफल के विनिर्माण की योजना को हरी झंडी दे दी है। रक्षा मंत्रालय के सूत्रों के हवाले से यह जानकारी मिली है।  सूत्रों ने कहा कि यूपी भारत का रक्षा विनिर्माण केंद्र बनने की दिशा में बढ़ रहा है। एक सूत्र ने कहा कि, 'यह रक्षा अधिग्रहण में खरीद (वैश्विक) से मेक इन इंडिया तक के सफर में निरंतर होते बड़े बदलाव को दर्शाता है। यह कोशिश रूस के साथ साझेदारी में कि जाएगी और यह रक्षा क्षेत्र में दोनों देशों के बीच गहरी होती साझेदारी को प्रदर्शित करती है।'

सूत्रों ने बताया है कि यह परियोजना विभिन्न सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमों (MSME) और अन्य रक्षा उद्योगों को कच्चे माल और घटकों की सप्लाई के लिए व्यावसायिक अवसर प्रदान करेगी, जिससे रोजगार के नए अवसर उत्पन्न होंगे। 7.62 X 39 एमएम कैलिबर एके-203 (असॉल्ट कालाश्निकोव-203) राइफल तीन दशक पहले शामिल सेवा में जारी इंसास राइफल का स्थान लेंगी।

सूत्रों ने जानकारी दी है कि एके-203 असॉल्ट राइफलें, 300 मीटर की प्रभावी रेंज के साथ, हल्की, मजबूत और प्रमाणित तकनीक के साथ आसानी से इस्तेमाल में लाई जा सकने वाली आधुनिक असॉल्ट राइफल हैं। ये वर्तमान और परिकल्पित अभियान संबंधी चुनौतियों का पर्याप्त रूप से सामना करने के लिए सैनिकों की युद्ध क्षमता में इजाफा करेंगी।

अब विधानसभाओं और सांसद में नहीं चलेगा 'वन्दे मातरम्' ?

NIMHANS दे रहा इन पदों पर नौकरी का शानदार मौका, जल्द करें आवेदन

राकेश टिकैत को मिलेगा अंतर्राष्ट्रीय सम्मान, लंदन की इस कंपनी ने किया ऐलान

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -