सवर्णों को आरक्षण देने के बाद, अब मोदी सरकार देशवासियों को दे सकती है एक और बड़ा तोहफा

Jan 11 2019 11:05 AM
सवर्णों को आरक्षण देने के बाद, अब मोदी सरकार देशवासियों को दे सकती है एक और बड़ा तोहफा

नई दिल्ली: सरकारी नौकरियों और शैक्षणिक संस्थानों में सवर्ण समुदाय के गरीब लोगों को 10 प्रतिशत आरक्षण देने के बाद, अब केंद्र कि मोदी  सरकार देश के गरीब और किसानों के लिए बड़े स्तर पर योजनाओं का पिटारा खोलने पर मंथन कर रही है. 2019 के लोकसभा चुनावों के चलते सरकार बीपीएल श्रेणी के नागरिकों को 'यूनिवर्सल बेसिक इनकम' (UBI) के माध्यम से एक निश्चित धनराशि सीधे उनके खाते में डालने पर विचार कर रही है.

हर माह वेतन 35 हजार रु से अधिक, NIVH ने निकाली शानदार नौकरियां

इसके साथ ही किसानों को भी सीधा फायदा पहुंचाने के लिए डायरेक्ट इंवेस्टमेंट सपोर्ट सिस्टम की योजना को अमल में लाया जा सकता है. गौरतलब है कि यूबीआई के अन्तर्गत सरकार देश के हर नागरिक को बिना किसी शर्त एक निश्चित रकम उपलब्ध कराती है, इसका मकसद गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन कर रहे लोगों को बारबरी की श्रेणी में लाना होता है. यूबीआई योजना का सुझाव प्रथम बार लंदन यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर गाय स्टैंडिंग ने दिया था.

जीएसटी काउंसिल की बैठक जारी है, कई अहम मुद्दों पर चर्चा

सूत्रों के अनुसार केंद्र की मोदी सरकार गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले लोगों के लिए यूबीआई के अंतर्गत 2,500 रुपये प्रति माह देने की घोषणा कर सकती है. बीपीएल श्रेणी के लोगों को मिलने वाली सभी सब्सिडी जिनमें एलपीजी, खाने-पीने की चीजें और दूसरे संसाधन भी शामिल हैं, उन्हें समाप्त करके इनकी पूरी रकम खाते में डाल दी जाएगी. जानकारी के अनुसार, यूबीआई के द्वारा मिलने वाली इस रकम से एक परिवार के पांच सदस्यों का पोषण संबंधी आवश्यकताओं को पूरा किया जाएगा.

खबरें और भी:-

 

25 हजार रु वेतन, National oceanography ने निकाली वैकेंसी

आज शेयर बाजार ने की सुस्त शुरुआत

बजट सत्र : एक फरवरी को पेश हो सकता है अंतरिम बजट