मोबाईल टॉवर से सेहत पर पड़ता हैं असर, सही हैं या गलत पढ़िए

अभी तक कई लोग इस भ्रम में जीते हैं की मोबाईल टॉवरों से मनुष्य की सेहत पर असर पड़ता हैं. और कैंसर जैसी घातक बीमारियाँ होती हैं किन्तु ये बात गलत हैं. मोबाईल टॉवरों से मनुष्य की सेहत पर कोई असर नही होता हैं. ये बात खुद दूर संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कही हैं कि मोबाइल टावरों से होने वाला रेडिएशन मानव स्वास्थ्य पर असर नहीं डालता है.

रविशंकर प्रसाद नें विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) की एक शोध का हवाला देते हुए ये बात गुरुवार को कही हैं. आगे उन्होंने कहा कि 1971 से लेकर अब तक 30 हजार शोध सैंपल लिए गए. और "डब्लूएचओ की रिपोर्ट के विस्तृत अध्ययन के बाद मैंने पाया कि टावर रेडिएशन का स्वास्थ्य पर कोई प्रतिकूल असर नहीं पड़ता है. 

आगे उन्होंने कहा की सरकार नें पहले ही भारत में टेलीकॉम कंपनियों के लिए 10 गुना सख्त मानक लगा रखे हैं. जिसमें नियमों का उल्लंघन होते पाए जाने पर 10 लाख रुपये का जुर्माना है. और निर्धारित से ज्यादा रेडिएशन होने पर 10 करोड़ रुपये से भी ज्यादा का जुर्माना लगाया है. आगे उन्होंने कॉल ड्राप के विषय में भी बात की और कहा की कॉल ड्राप की समस्या को हाथों हाथ नही सुलझाया जा सकता हैं.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -