सस्पेंडेड एसओ बोले, मारना था तो सादे में बुला लेते

सस्पेंडेड एसओ बोले, मारना था तो सादे में बुला लेते

कानपुर: देश के सबसे राज्य उत्तर प्रदेश में MLA से मारपीट के दोष में ससपेंड एसओ गोंडा अनुज कुमार सैनी ने कहा कि 11 वर्ष की नौकरी के जीवनकाल में प्रथम बार मेरी वर्दी का अनादर हुआ है, जिसे कभी नहीं भूल पाऊंगा. यदि MLA जी को मारना ही था, तो सामान्य में कहीं भी बुला लेते. शायद कुछ न बोलता या कहता. किन्तु पिटने के पश्चात् अपना रोष मिटाने के लिए, जो मन में आया वह बोल दिया. 

उन्होंने अपने आप को पूरे प्रकरण में निर्दोष बताते हुए कहा कि केस गंगाजल की प्रकार स्पष्ट है. वही थाने के सीसीटीवी कैमरे में पूर्ण घटित घटना कैद है. फिलहाल सीसीटीवी करप्ट है. रिकवर होने पर हकीकत सबके सामने होगी. जिसकी रिकवरी की कोशिश की जा रही है. वही अनुज कुमार सैनी ने अपने बयान में कहा कि यह पूरी एक साजिश है. MLA कई गाड़ियों से अचानक हूटर बचाते हुए थाने में आए. उनके साथ अधिक लोग थे. 

साथ ही COVID-19 महामारी के चलते सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए दुआ सलाम करते हुए सभी लोगों को दफ्तर के बाहर बैठने का इशारा किया. इस पर उन्होंने थाने पर कार्य कर रहे एक वृद्ध चौकीदार को अपशब्द बिल दिया. चौकीदार को गाली देते देख MLA को टोका. उनसे चौकीदार की उम्र का सम्मान करने को कहा. इस पर MLA ने उन्हें गाली दे दी. इससे पूर्व की वह कुछ समझ पाते, MLA ने थप्पड़ मारते हुए वर्दी खींच ली तथा नेम प्लेट तोड़ दी. अचानक हुए इस घटनाक्रम से वह छोङ गए. वही अब पुरे मामले की जांच की जा रही है.

लग्जरी कार को लेकर विवादों में घिरे सीएम हेमंत सोरेन

भारतीयों की एंट्री को लेकर नेपाल सरकार ने सख्त किए नियम, दोनों देशों में और बढ़ेगा तनाव

कोरोना वैक्सीन बनाने वाला देश बनेगा भारत, अभी से रणनीति बनाए सरकार - राहुल गाँधी