एम्स भोपाल के फीडबैक में उभरी मिली -जुली तस्वीर

Mar 13 2018 05:20 PM
एम्स भोपाल के फीडबैक में उभरी मिली -जुली तस्वीर

भोपाल : स्वास्थ्य संचालनालय द्वारा करीब तीन साल पहले जिला अस्पताल, सिविल अस्पताल व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में मरीजों से फीडबैक लेने के निर्देश के तहत लिए गए फीडबैक में ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (एम्स) भोपाल के मरीजों का मिला-जुला अनुभव सामने आया है.

मिली जानकारी के अनुसार 32 प्रतिशत मरीज अस्पताल की व्यवस्था से 'बेहद संतुष्ट' नजर आए , जबकि 47 फीसदी लोगों ने केवल 'संतुष्ट' जाहिर की. जबकि 21 फीसदी लोगों का कहना है कि वह अस्पताल व्यवस्था से संतुष्ट नहीं है.यह फीडबैक 2016-17 में अस्पताल में इलाज के लिए आए करीब 6 हजार मरीजों के जवाब से सामने आया है.यदि असंतुष्टि की बात करें तो 28 प्रतिशत लोग एम्स के स्टाफ के व्यवहार से नाखुश नजर आए. जबकि 8 फीसदी लोग साफ सफाई, 15 फीसदी इलाज पर होने वाले खर्च और 16 फीसदी इलाज की क्वालिटी और बाकी अन्य कारणों से असंतुष्ट दिखे.

बता दें कि 261 असंतुष्ट मरीजों में 42 फीसदी वार्ड बॉय, 34 फीसदी डॉक्टरों के व्यवहार, 10 फीसदी लोग नर्सों के व्यवहार और 9 फीसदी मरीज टेक्नीशियन के स्वभाव से नाराज दिखे. इस असंतुष्टि पर एम्स भोपाल के डायरेक्टर डॉ. नितिन एम ने कहा कि अधिकांश मरीज संतुष्ट हैं. अस्पताल के पूरी तरह शुरू होने के बाद इलाज में लगने वाला समय भी कम हो जाएगा. यह फीडबैक इसीलिए लिया गया कि हमें अपनी कमियां पता चलती रहे.

यह भी देखें

Aiims Recruitment : यहां निकली 12वीं पास के लिए वैकेंसी

व्यापम के 20 सीबीआई अधिकारियों के थोकबंद तबादले

 

 

?