मुफलिसी में जीवन व्यतीत कर रहा भारत का ये खिलाडी

मुफलिसी में जीवन व्यतीत कर रहा भारत का ये खिलाडी
Share:

कोरोना ने देश के हर क्षेत्र को बहुत प्रभावित किया है. वही इसके साथ COVID-19 महामारी ने मध्यमवर्गीय और गरीब परिवार के प्लेयरों के समक्ष संकट उतपन्न कर दिया है. उनके लिए ट्रेनिंग के साथ-साथ परिवार का पेट भरना भी एक बड़ी चुनौती बन गया है. ऐसे में वह रेहड़ी तक लगाने को मजबूर हो गए हैं. एशियन यूथ मीट 2017 में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले 19 साल के मिराज अली असफलता में जीवन व्यतीत करने को मजबूर हैं.

त्रिलोकपुरी में परिवार के 6 सदस्यों के साथ किराये के एक कमरे में रहने वाले मिराज अली ने अपने बयान में बताया कि पिता मुहम्मद शमशेर ठीक से सुन नहीं पाते हैं, और ना ही बोल पाते हैं. परिवार की जीविका चलाने के लिए वह मजदूरी किया करते थे. अभी हाल ही में पिता की किडनी का ऑपरेशन हुआ है. पिता के घर बैठने पर परिवार की पूरी जिम्मेदारी बड़े भाई मुराद के कंधों पर आ गई. अब उनके लिए घर का पालन पोषण करना एक बड़ी चुनौती हो गई है.

वही कोरोना के कारण जारी किये गए लॉकडाउन के चलते भाई की नौकरी भी छूट गई. पिता व भाई के घर में बैठने से आमदनी का माध्यम भी बंद हो गया. साथ ही दो समय के भोजन के लिए घंटों कतार में लगना पड़ा. अनलॉक एक में छूट के पश्चात् वह एक जानकार की रेहड़ी पर फल बेचकर परिवार का खर्च उठा रहे हैं. हालात इतने बदतर हो चुके हैं कि प्रतिदिन लगभग 300 रुपये कमाकर किसी तरह गुजर बसर कर रहे हैं. इस स्थिति में उनके लिए घर का गुजरा करना बेहद मुश्किल हो रहा है.

विराट इस लुक के दीवाने हुए फैंस

सुशांत सिंह मामले पर धोनी ने साधी चुप्पी

आईपीएल के 13वे सीजन का UAE में हो सकता है आयोजन

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -