शिवराज की घोषणा: अब हर साल 14 सितंबर को हिन्दी सम्मेलन का आयोजन होगा

Sep 12 2015 09:34 PM
शिवराज की घोषणा: अब हर साल 14 सितंबर को हिन्दी सम्मेलन का आयोजन होगा

भोपाल : भोपाल में विश्व हिंदी सम्मेलन के समापन समारोह में सीएम ने दोहराया की प्रदेश में अब से हर वर्ष 14 सितंबर को हिन्दी सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। सम्मेलन के अंतिम दिन केंद्रीय गृह मंत्री बाबूलाल गौर, छत्तीसगढ़ के सीएम डॉ. रमन सिंह व हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर सहित कई गणमान्य अतिथि पहुंचे थे। व इस दौरान सम्मेलन के समापन पर हिंदी के प्रचार प्रसार के लिए कई सिफारिशें की गई. इस दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि अटलबिहारी विश्व विद्यालय को अंतरराष्ट्रीय स्तर का बनाया जाएगा। सरकारी विज्ञापन हिन्दी में दिए जाएंगे। प्रदेश के सभी व्यापारियों को अपने संस्थान के नाम के बोर्ड हिन्दी में लगाने को कहा जाएगा।

इसी तरह प्रदेश में बिकने वाली चीजों पर उनका नाम व विवरण हिन्दी में ही लिखा जाएगा। चौहान ने आगे कहा की हिन्दी में जो भी व्यक्ति अच्छा काम करेगा, उसे पुरस्कृत किया जाएगा। दूसरी भाषाओं के शब्दों को भी हिन्दी में जोड़ा जाएगा। हर साल हिन्दी सम्मेलन आयोजित किया जाएगा। सम्मेलन में प्रशासन में हिन्दी को लेकर 72 सिफारिशें की गई हैं. व राजभाषा लोकपाल बनाए जाएं, इसी तरह चिकित्सा का पढ़ाई हिन्दी में होना चाहिए। 

विज्ञान का लेखन भी हिन्दी हो। शोधपत्रों का लेखन भी हिन्दी हो और विज्ञान का प्रचार-प्रसार भी हिन्दी में हो। अंतरिक्ष विज्ञान की जानकारी भी ज्यादा से ज्यादा हिन्दी में दी जाए. बाल साहित्य में ज्यादा से ज्यादा हिन्दी की सिफारिश भी सम्मेलन में की गई है, तथा अन्य भाषाओं में प्रकाशित बाल साहित्य के अच्छे लेखों का हिन्दी में अनुवाद हो, व यह बात भी दोहराई गई की हर वर्ष स्‍कूल-कॉलेजों में हिन्‍दी उत्‍सव आयोजित हो. इसके साथ साथ  विश्व हिंदी सम्मेलन के समापन समारोह में हिन्‍दी सिखाने वालों को आरक्षण भी देने की सिफारिश की गई. संयुक्त राष्ट्र संघ में हिन्दी को अधिकृत भाषा में शामिल कराने का प्रयास होगा. व इस बात पर भी सिफारिश की गई की पासपोर्ट में हिन्दी में ही प्रविष्टियां हों तथा विदेशों में हिन्दी का प्रचार-प्रसार किया जाए.