पोम्पिओ ने किया ट्रम्प के दावे का समर्थन, कहा- वूहान की लैब से ही निकला कोरोना

वाशिंगटन: कोरोना महामारी ने दुनियाभर में कोहराम मचा रखा है. ऐसे में पूरे विश्व में यह सवाल उठ रहा है कि आखिर ये वायरस आया कहां से है? अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने रविवार को कहा है कि इस बात के पुख्ता प्रमाण हैं कि कोरोना वायरस चीन में वुहान की एक लैब से ही निकला है.  एबीसी के कार्यक्रम 'दिस वीक' पर पोम्पिओ ने कहा कि, 'इस बात के पर्याप्त प्रमाण मौजूद हैं कि यही वो जगह है जहां से ये सब शुरू हुआ था.'

चीन ने इस मामले को जिस तरह लिया पोम्पिओ ने उसकी कड़े शब्दों में आलोचना की थी, लेकिन उन्होंने इस बात का उत्तर नहीं दिया कि क्या चीन ने इस वायरस को जानबूझकर फैलाया था. एबीसी न्यूज' से बात करते हुए US के विदेश मंत्री ने अमेरिकी खुफिया विभाग के उस बयान पर भी सहमति जाहिर की, जिसमें स्पष्ट तौर पर कहा गया है कि कोविड-19 वायरस मनुष्य द्वारा निर्मित नहीं है या इसे अनुवांशिक रूप से डेवलप नहीं किया गया है. हालांकि उन्होंने ट्रंप के बयान का समर्थन करते हुए कहा कि इस वायरस के वुहान की प्रयोगशाला से निकलने के पर्याप्त प्रमाण हैं. 

आपको बता दें कि जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी की रिपोर्ट के मुताबिक, कोरोना वायरस के कारण अमेरिका में पिछले 24 घंटों में 1450 लोगों की जान जा चुकी है. रविवार तक अमेरिका में कोरोना के कुल मामलों की तादाद 1.1 मिलियन से अधिक थी और यहां 67,000 से अधिक लोग मारे गए हैं.

सिंगापुर में 4800 भारतीय कोरोना पॉजिटिव, मरीजों में 90 फीसद मजदूर

चीन को लेकर एक और बड़ा खुलासा, कोविड-19 की गंभीरता को पूरी तरह नहीं बताया

फ्रांस में बढ़ा मौत का सिलसिला, 100 से भी अधिक हुई मौते

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -