मानव तस्करों ने प्रवासियों पर बरसाई गोलियां, 15 की मौत

न्यूयॉर्क: उत्तर पश्चिम लीबिया की गुप्त जेल में रखे गए प्रवासियों और शरणार्थियों पर उनके भागने के दौरान मानव तस्करों ने उन्हें गोलियों से भून दिया.  मानव तस्करों द्वारा बंदी बनाकर रखे गए 100 से ज्यादा प्रवासियों और शरणार्थियों में से कई गोलीबारी में मारे गए और घायल हो गए. अंतरराष्ट्रीय चिकित्सा संगठन ने कहा कि बुधवार रात हुई घटना में बचे लोगों ने बताया है कि कम से कम 15 लोगों की मौत हुई है और तकरीबन 40 अन्य जख्मी हुए हैं.

गौरतलब है कि इथोपिया और सोमालिया के प्रवासी, यूरोप में शरण लेने कि कोशिश में थे, लेकिन मानव तस्करों ने उन्हें बंदी बनाकर लीबिया की एक गुप्त जेल में रख दिया था. बताया जा रहा है कि ये लोग तीन साल से वहां बंदी हैं. पर जब उनमे से कुछ ने भागने की कोशिश की तो मानव तस्करों ने उनपर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाई जिसमे कई लोग मरे गए, इनमे भी ज्यादातर महिलाऐं ही हैं और उनमे से जो बच गए उन्हें वापिस बंदी बना लिया गया.

आपको बता दें कि सोमालिया और इथोपिया जैसे देशों में हालात बिलकुल ठीक नहीं हैं. ये दोनों देश आतंकवाद और भुखमरी से परेशान हैं. वहां न रोज़गार है न जीने की आज़ादी.  इन देशों में कट्टर इस्लामी चरमपंथियों का आतंक है, जो महिला खतना, लड़कियों को शिक्षा न देना जैसे कई कानूनों का सख्ती से पालन करवाते हैं और ना मानने पर उन्हें मौत के घाट उतार देते हैं, ऐसे में इन दोनों देशों के लोग यूरोप में शरण लेने निकले थे, लेकिन मानव तस्करों के हाथ फंस गए. 

पाकिस्तान के खिलाफ जा रहा है अमेरिका-परवेज मुशर्रफ

नीरव मोदी का भाई और 50 किलो सोना, ये है मामला

युगांडा सड़क दुर्घटना में 48 की मौत

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -