भूख के आगे मजबूर हुए प्रवासी मजदूर, रोजगार के लिए इन राज्यों में की वापसी

Jun 30 2020 04:30 PM
भूख के आगे मजबूर हुए प्रवासी मजदूर, रोजगार के लिए इन राज्यों में की वापसी

कोरोना काल में भूख और निराशा की वजह से लाखों प्रवासी अपने सपनों के जीवंत शहरों को छोड़कर बिहार में अपने-अपने घरों को लौट गए थे. लेकिन अब इन्हीं कारणों ने उन्हें दोबारा उन शहरों का रुख करने पर मजबूर कर दिया है जिन्हें वे कोरोना वायरस के डर से छोड़ आए थे। भूख और नाउम्मीदी उन्हें गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तेलंगाना और पंजाब लौटने पर मजबूर कर रही है। इन प्रवासियों के नियोक्ता, जिनमें से कई ने लॉकडाउन के दौरान उन्हें छोड़ दिया था, अब उन्हें वापस लाने के लिए ट्रेन और यहां तक कि विमान के टिकट भेज रहे हैं क्योंकि कारखाने चालू हो चुके हैं और निर्माण गतिविधि और बुवाई का मौसम शुरू हो गया है।

कोरोना काल में IRCTC ने की बड़ी छंटनी ! इतने कर्मचारियों को नौकरी से निकला

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि अहमदाबाद, अमृतसर, सिकंदराबाद और बंगलूरू जैसी जगहों के लिए मेल और एक्सप्रेस ट्रेनें पूरी तरह भरकर चल रही हैं, जहां से कुछ समय पहले ये कामगार पैदल चलकर, साइकिल चलाकर और ट्रकों के जरिए यहां तक कि कंटेनर ट्रकों और कंक्रीट मिक्सिंग मशीन वाहन में छिपकर आनन-फानन में अपने घर लौटे थे। वही,मुजफ्फरपुर-अहमदाबाद स्पेशल में औसतन 133 प्रतिशत, दानापुर-सिकंद्राबाद विशेष ट्रेन में 126 प्रतिशत, जयनगर-अमृतसर विशेष ट्रेन में 123 प्रतिशत, दानापुर-बंगलूरू विशेष ट्रेन में 120 प्रतिशत, पटना-अहमदाबाद विशेष ट्रेन में 117 प्रतिशत, सहरसा-नई दिल्ली विशेष ट्रेन में 113 प्रतिशत ट्रेन में और दानापुर-पुणे विशेष ट्रेन में औसतन 102 प्रतिशत यात्री सफर कर रहे हैं।

एक कार में कर पाएंगे सफर, सरकार ने लिया चौकाने वाला फैसला

इसके अलावा पूर्व मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने कहा कि रेलवे प्रतीक्षा सूची की बारीकी से निगरानी कर रहा है और यात्रा को सुगम बनाने के लिए आरक्षण की स्थिति को जल्दी से अपडेट कर रहा है। उन्होंने कहा, अगर जरूरत पड़ी तो भारी ट्रैफिक वाले मार्गों पर और ट्रेनें चलाई जा सकती हैं। पूर्व मध्य रेल में दानापुर, सोनपुर, दीनदयाल उपाध्याय, समस्तीपुर और धनबाद रेल मंडल शामिल हैं। 

बॉम्बे हाईकोर्ट से अर्नब गोस्वामी को बड़ी राहत, FIR पर लगाई रोक

लद्दाख के बाद अब राजस्थान बॉर्डर तक पहुंचा चीन, बढ़ाई सैन्य गतिविधियां

एप बैन किए जाने से तिलमिलाया 'ड्रैगन', कह दी बड़ी बात