लगातार माइक्रोवेव का कर रहे हैं इस्तेमाल तो इन बिमारियों से हो सकते हैं ग्रसित

लगातार माइक्रोवेव का कर रहे हैं इस्तेमाल तो इन बिमारियों से हो सकते हैं ग्रसित

माइक्रोवेव का उपयोग इन दिनों आम हो गया है. हर बार इसका इस्तेमाल किया जाता है. कुछ लोग होते हैं कि बिना गमर किये खाना नहीं खाते. ऐसे लोग जो माइक्रोवेव में खाना पकाकर ही खाना खाते हैं, उन्हें सोचने की जरूरत है क्योंकि ऐसा करने से वे कई बीमारियों से घिर सकते हैं. साथ ही यह आपकी प्रजनन क्षमता को गंभीर रूप से प्रभावित कर सकता है. अगर आप भी इसका उपयपग करते हैं तो हम आपको बता दें कि इससे आपको क्या बीमारी हो सकती है. 

दरअसल, एक स्टडी के अनुसार, माइक्रोवेव में प्लास्टिक के कंटेनर में खाना गर्म करने से 95 प्रतिशत केमिकल बाहर निकलता है जो कि हमारे सेहत के लिए काफी नुकसानदेह साबित होता है.  

विटामिन बी12 की कमी
फिश, लीवर आदि जिनमें विटामिन बी12 की मात्रा भरपूर होती है, जब इन्हें माइक्रोवेव में पकाया जाता है तो उनमें से विटामिन बी12 कम हो जाता है. बता दें कि इनमें उपस्थित विटामिन की मात्रा कम हो जाती है क्योंकि माइक्रोवेव की गर्मी इसे नष्ट कर देती है. इस प्रकार माइक्रोवेव का खाद्य पदार्थों पर बुरा प्रभाव पड़ता है.

मां के दूध को नष्ट कर देता है
जब फ्रोज़न ब्रेस्ट मिल्क (मां का संरक्षित दूध) को माइक्रोवेव में रखा जाता है तो इसके पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं तथा मां के दूध में जो बैक्टीरिया से लड़ने वाली तत्व मौजूद होते हैं वह भी नष्ट हो जाते हैं.

कैंसर होने वाला कारक
माइक्रोवेव में खाना पकाने का मतलब है कि कैंसर जैसी बड़ी बीमारी को बुलावा देना. जब प्लास्टिक के बर्तनों में माइक्रोवेव में खाना बनाया जाता है या गरम किया जाता है तो प्लास्टिक के बर्तन विषाक्त पदार्थ छोड़ते हैं जिसके कारण कैंसर हो सकता है. यह विषाक्त पदार्थ प्लास्टिक के बर्तन के अंदर रखे खाने में मिल जाते हैं.

ब्लड शुगर के नियंत्रण में इस तरह करें तुलसी के पत्ते का उपयोग

लीवर कैंसर से बचाएगी एक कप कॉफी

बिच्छू के काटने पर तुरंत करें ये उपाय