जाने विविध धातु के बर्तन से होने वाले फायदे

भारतीय पाक शास्त्र में न केवल आहार और व्यंजनों पर विचार किया गया है, वरन परोसने के तरिके और उसमे उपयुक्त धातु प्रयोग पर भी विस्तार से बताया गया है | इस श्रंखला में आज जानेगे विविध धातुओं के बर्तनों का प्रयोग और उनकी विशेषताऐ|

1 सोने के बर्तन - 

सोना एक महँगी धातु है, सोने के बर्तन में पहले के राजा महाराजा भोजन करते थे | सोना एक गर्म धातु है. सोने से बने पात्र में भोजन बनाने और करने से शरीर के आन्तरिक और बाहरी दोनों हिस्से कठोर, बलवान, ताकतवर और मजबूत बनते है,और साथ साथ सोना आँखों की रौशनी बढ़ाता है|

2 चांदी के बर्तन -

चाँदी एक ठंडी धातु है, जो शरीर को आंतरिक ठंडक पहुंचाती है| शरीर को शांत रखती है, और प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूती देती है | इसके पात्र में भोजन बनाने और करने  दिमाग तेज होता है, आँखों स्वस्थ रहती है, इसके अलावा पित्तदोष , कफ और वायुदोष को नियंत्रित रहता है.

3 कान्स के बर्तन -

कान्स से बने पात्र में खाना खाने से बुद्धि तेज होती है, रक्त में  शुद्धता आती है, रक्तपित शांत रहता है और भूख बढ़ाती है | लेकिन कांस्य खट्टी चीजे नहीं परोसना चाहिए खट्टी चीजे इस धातु से क्रिया करके विषैली हो जाती है जो नुकसान देती है|

4 ताँबे के बर्तन -

तांबा के बने बर्तन का हर घर में पूजा पाठ में भी प्रयोग लाया जाता है, इस पात्र का पानी रोग मुक्त बनता है, रक्त शुद्ध करता है, स्मरण-शक्ति अच्छी रखता है, लीवर संबंधी समस्या दूर करता है, तांबे का पानी शरीर के विषैले तत्वों को खत्म कर देता है इसलिए इस पात्र में रखा पानी स्वास्थ्य के लिए उत्तम होता है| तांबे के बर्तन में दूध नहीं पीना चाहिए, और न ही खट्टे पदार्थ खाने चाहिये इससे शरीर को नुकसान होता है|

5  पीतल के बर्तन -

अनेक घरों में पीतल के बर्तन का भी उपयोग होता है, इसमें भोजन पकाने और करने से कृमि रोग, कफ और वायुदोष की बिमारी नहीं होती.

6 स्टील के बर्तन -

वर्तमान समय में स्टील के बर्तन का उपयोग कुछ ज्यादा होता है, यह बहुत सुरक्षित और किफायती होता है, स्टील के बर्तन नुक्शान्देह नहीं होते क्योंकि ये ना ही शार से क्रिया करते है और ना ही अम्ल से, इसलिए नुक्सान नहीं होता है| 

7 लोहे के बर्तन - 

लोहे के बर्तन बने भोजन खाने से शरीर की  शक्ति बढती है, इसमें लोह्तत्व शरीर में जरूरी पोषक तत्वों को बढ़ता है, लोहा कई रोग को खत्म करता है, इसलिये लोहे की भारी तले की कड़ाई हर घर में होती है, पर परोसने जैसे थाली प्लेट, कटोरी आदि में लोहे के बर्तन का प्रयोग नही करना चाहिये |

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -