मेरी ये आखरी कोशिश नाकाम हो न जाये

मेरी ये आखरी कोशिश नाकाम हो न जाये

र्चा ऐ मोहब्बत सरे आम हो न जाये
तू मेरे नाम से बदनाम न हो जाये
बुरा वक्त फिर जिंदगी में आया है
अपने और गैर की पहचान हो न जाये
अजनबी बनकर तू इस तरह मिला मुझसे
गम आज मुझ पर मेहरबान हो न जाये
महफ़िल से उठा मुझको मगर ये देख लेना
मेरे बाद ये तेरी महफ़िल वीरान हो न जाये
इतना प्यार न बरसा मुझ पर ओ कातिल
मेरी जान लेने वाला मेरी जान हो न जाये
तुझे मनाने की खातिर खुद को मिटा रहा हूँ 
मेरी ये आखरी कोशिश नाकाम हो न जाये