'महिलाओं के ख़िलाफ़ हिंसा का कारण बॉलीवुड'

'महिलाओं के ख़िलाफ़ हिंसा का कारण बॉलीवुड'

ज्यादातर मौकों पर अपने तेवर और उटपटांग बयानों के लिए सुर्खियों में रहने वाली केंद्रीय महिला और बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने फिर एक अजीबोगरीब बयान दिया है. मंत्री जी ने महिलाओं के ख़िलाफ़ बढ़ रही हिंसा का कारण बॉलीवुड और क्षेत्रीय सिनेमा को बताया है. मेनका गांधी ने कहा है कि फिल्मों में रोमांस की शुरुआत ही छेड़छाड़ के साथ शुरू होती है.

गोवा फेस्टिवल में बात करते हुए मेनका गांधी के दिए इस इस बयान पर सोशल मीडिया ने मेनका को आड़े हाथों लिया है. लोग केंद्रीय मंत्री के इस बयान को बेतुका बता रहे हैं तो कोई तंज़ कसते हुए देश में फिल्मों को ही बैन करने की बातें कर रहे हैं.

गौरतलब है कि मेनका ने कुछ समय पहले गन्ना किसानों से मुलाकात के समय यह कह कर बवाल मचा दिया था कि किसने कहा था गन्ना लगावों और मेरी जान खाओ. अब मेनका ने महिलाओं के खिलाफ सिनेमा को जिम्मेदार ठहराकर नई बहस को जन्म दे दिया है. अक्सर मेनका के बयान कई दिनों तक सुर्खियों में रहते है .

मॉब लिंचिंग पर SC का फैसला

मॉब लिंचिंग : जयंत की सफाई, दोषियों को मिले सजा

मॉब लिंचिंग की घटनाओं के लिए राजनीति जिम्मेदार: राहुल गाँधी


    

 

?