संत आशाराम बापू के प्रकरण के लाईव टेलीकास्ट की मांग को लेकर सौंपा ज्ञापन

छिंदवाड़ा से शुभम सहारे की रिपोर्ट

छिंदवाड़ा। सामाजिक कार्यकर्ता भगवानदीन साहू के नेतृत्व में अन्य सामाजिक एवं धार्मिक संगठनों ने जिला कलेक्टर के माध्यम से महामहिम राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, मुख्य न्यायाधीश सुप्रीमकोर्ट के नाम ज्ञापन सौंपकर संत आशाराम बापू के प्रकरण का लाईव टेलीकास्ट की मांग की है। ज्ञापन में बताया कि संत हमारी संस्कृति की पहचान है। संत आशाराम बापू ऐसे पहले संत है, जिन्होंने स्वामी विवेकानंद के बाद विश्वधर्म संसद शिकागो को सम्बोधित किया है। उनके जेल में रहने के बावजूद भी सुपर पॉवर अमेरिका के कैलिफोर्निया राज्य विधानसभा ने सन 2018 में उत्कृष्ट सेवाकार्यों के लिए सर्वोच्च सम्मान से सम्मानित किया है। 

यहां उनके साथ जानबूझकर न्याय व्यवस्था का घोर दुरुपयोग हो रहा है। हाल ही में गौतम नवलखा को सुप्रीम कोर्ट ने जेल से निकालकर हाउस अरेस्ट का आदेश दिया है। नवलखा के खिलाफ गंभीर देशद्रोह का आरोप है, भीमा कोरेगांव की घटना जिसमें वर्तमान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की हत्या के षडयंत्र का ज़िक्र है, इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने आरोपियों के लिए राहत प्रदान की है! कारण कि आरोपी की उम्र अधिक है और अस्वस्थ है। पत्रकार अर्नव गौस्वामी का प्रकरण मुम्बई सेंशन कोर्ट एवं हाई कोर्ट में विचाराधीन होने के बावजूद जमानत दी गई। जहांगीरपुरी दिल्ली में अतिक्रमण हटाने की घटना पर दो घंटे में सुप्रीम कोर्ट द्वारा स्टे दिया गया। लालकिला पर खालिस्तान का झंडा फहराने वाले पर कोई भी कार्यवाही नहीं। ऐसे अनगिनत मामले है जहां शासन प्रशासन का हिन्दू सन्तों के प्रति दुराग्रह साफ़ नजर आता है। यह दुराग्रह देश के 90 करोड़ हिन्दू आस्था के साथ है, आतंकवादी और देशद्राही लोगों के साथ न्यायव्यवस्था का अक्सर लचर रवैया होता है। 

न्याय व्यवस्था के अनुसार पुलिस व्यवस्था के लिए कोई प्रकरण खानापूर्ति, वहीं वकिल के लिए सिर्फ़ एक फाईल और न्यायपालिका के लिए प्रशासनिक व्यवस्था होती है। परंतु आरोपी के लिए सम्पूर्ण जीवन मान प्रतिष्ठा एवं करोड़ों लोगों की आस्था का प्रश्न होता है। संत आशाराम बापू के प्रकरण का सुप्रीम कोर्ट के दिशा निर्देश के अनुसार लाईव टेलीकास्ट हो, जिससे समस्त देशवासी वास्तविक सच्चाई से अवगत हो सकें। ज्ञापन देते समय साध्वी रेखा, साध्वी प्रतिमा, आधुनिक चिंतक हरशुल रघुवंशी, शिक्षाविद विशाल चउत्र, राष्ट्रीय बजरंगदल से नितेश साहू, पवार समाज के हेमराज पटले, साहू समाज के ओमप्रकाश साहू, युवा सेवा संघ के नितिन दोईफोड़े, ओमप्रकाश डेहरिया, आई.टी.सेल के प्रभारी भूपेश पहाड़े, कलार समाज के सुजीत सूर्यवंशी, विलास घोंघे, सुभाष इंगले, अश्वनी पटेल, महिला समिति से दर्शना खट्टर, सुमन डोईफोडे, छाया सूर्यवंशी, डॉ. मीरा पराडकर, करुणेश पाल, शकुंतला कराडे, योगिता पराड़कर, पुष्पा आदि मुख्य रूप से उपस्थित रहे।

प्रदेश के अनमोल ने 5 लोगों को दिया नया जीवन, अहमदाबाद में धड़केगा दिल तो इंदौर के मरीज को लगेगा लिवर

बिजली के खंबे पर चढ़ा युवक, पुलिस ने पूरी की युवक की यह मांग

गुजरात चुनाव के बीच हुई बड़ी वारदात, वन विभाग से बंदूक लेकर भागे अतिक्रमणकारी

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -