अमित शाह का जम्मू कश्मीर दौरा महबूबा के लिए नौटंकी, आतंकवाद के नाम पर साध ली चुप्पी

श्रीनगर: केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर दौरे पर पहुंचे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के आने से घाटी में सियासी पारा चढ़ गया है. गृह मंत्री की बैठकों का सिलसिला तो शुरू हो ही चुका है, कई विकास योजनाओं का भी शिलान्यास किया जा रहा है. मगर PDP सुप्रीमो और पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती को इस दौरे से कोई उम्मीद नहीं है. उनकी नजरों में ये केवल सबकुछ सामान्य दिखाने का नाटक चल रहा है, किन्तु वास्तविकता इससे बहुत अलग है.

पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती ने कहा है कि अमित शाह के दौरे से पहले 700 नागरिकों को हिरासत में लिया गया. कई अपराधियों को कश्मीर की बाहर की जेलों में शिफ्ट किया गया. ऐसे कदम तनाव को और अधिक बढ़ाने का कार्य करते हैं. सब कुछ सामान्य दिखाने का प्रयास लगातार किया जा रहा है, लेकिन असल सच्चाई को सभी दबाना चाहते हैं. वहीं जिन विकास कार्यों को गृह मंत्री ने हरी झंडी दिखाई है, उस पर भी महबूबा ने तंज कसा है.

 

महबूबा की नजरों में आधे से अधिक प्रोजेक्ट वो हैं, जिनका काम UPA कार्यकाल के दौरान ही आरंभ हो चुका था. वे कहती हैं कि गृहमंत्री श्रीनगर से इंटरनेशनल फ्लाइट्स का उद्घाटन करते हैं, नए मेडिकल कॉलेज की नींव भी रखते हैं. मगर हकीकत ये है कि आधे से अधिक मेडिकल कॉलेज को लेकर सेंशन कांग्रेस सरकार के दौरान हो गया था. धारा 370 हटने के बाद से तो केवल परेशानियां बढ़ी हैं, जम्मू-कश्मीर को अराजकता की तरफ ढकेल दिया गया है. हालांकि, महबूबा ने अपने पूरे बयान में कहीं भी आतंकवाद या आतंकी घटनाओं की निंदा नहीं की है. 

गोवा का मुख्यमंत्री बदलना चाहती है भाजपा: मनीष सिसोदिया

पैदल चलने वालों के लिए पाकिस्तान-अफगान तोरखम सीमा फिर खोला गया

पीएम मोदी ने याद किया 'चाय वाले' के तौर पर अपना अतीत

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -