बाहरी लोगों को मतदान का अधिकार क्यों नहीं देना चाहती महबूबा मुफ़्ती ? केंद्र पर साधा निशाना

श्रीनगर: केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में बाहरी लोगों को मतदान का अधिकार देने पर PDP सुप्रीमो और पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। महबूबा ने पाकिस्तानी भाषा बोलते हुए कहा है कि केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर के लोगों से हर चीज छीनने में लगी हुई है। उन्होंने कहा कि पहले केंद्र ने गैर संवैधानिक तरीके से 370 छीना और चोर दरवाजे से मतदाताओं को लाने में लग गई है। महबूबा ने प्रेस वार्ता करते हुए कहा कि भाजपा 2024 के बाद संविधान को खत्म कर देगी। 

महबूबा मुफ़्ती ने कहा कि, देश में से तिरंगे को हटाकर भगवा झंडा लहरा दिया जाएगा। ये लोग मुल्क को भाजपा राष्ट्र बनाना चाहते हैं। उन्हें हिंदू राष्ट्र से भी कोई मतलब नहीं है। यहां के हिंदुओं को पता नहीं है कि ये लोग कैसा भाजपा राष्ट्र बनाएंगे। इसीलिए राज्यों की निर्वाचित सरकारों को गिराया जा रहा है। इस दौरान महबूबा ने जम्मू-कश्मीर के लोगों को एकजुट होने का आग्रह भी किया। महबूबा ने केंद्र पर जांच एजेंसियों के गलत इस्तेमाल करने का आरोप लगाते हुए कहा कि ED का दुरूपयोग किया जा रहा है। प्रदेश में नाजी वाली पॉलिसी लागू है। 

बता दें कि जम्मू-कश्मीर में इस साल विधानसभा चुनाव हो सकते हैं। इससे पहले निर्वाचन आयोग ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि बाहरी लोग भी मतदाता सूची में अपना नाम शामिल करा सकते हैं। जम्मू कश्मीर के मुख्य चुनावी अधिकारी हृदेश कुमार ने कहा कि जो गैर कश्मीरी लोग प्रदेश में रह रहे हैं, वे अपना नाम वोटर लिस्ट में शामिल कराकर मतदान कर सकते हैं। इसके लिए उन्हें निवास प्रमाण पत्र की आवश्यकता नहीं है। 

संजय राउत को एक और बड़ा झटका, ED की छापेमारी में हुआ नया खुलासा

कांग्रेस ने किया गुलाम नबी आज़ाद का अपमान ! जम्मू कश्मीर में लगी इस्तीफों की झड़ी

'ऐसे विधायकों को मंत्री बनाया जिनके नाम से लोग कांपते हैं', CM नीतीश पर मोदी ने बोला जमकर हमला

 

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -