जानिए मेघना साहू के बारे में, भारत की पहली ट्रांसजेंडर कैब ड्राइवर

Aug 31 2018 07:39 PM
जानिए मेघना साहू के बारे में, भारत की पहली ट्रांसजेंडर कैब ड्राइवर

भुवनेश्वर: ट्रेंसजेंडर्स को थर्ड जेंडर का दर्जा मिलने के बाद से उन्हें मिलने वाले अधिकारों में वृध्दि हुई है. इसी क्रम में भारत की एक ट्रांसजेंडर मेघना साहू अपनी कहानी के कारण काफी प्रचलित हो रही हैं. मेघना ने बिज़नेस मैनेजमेंट में मास्टर्स (MBA) किया है, उन्होंने मानव संसाधन (HR) और मार्केटिंग में MBA किया है, साथ ही वे भारत की पहले ट्रांसजेंडर कैब ड्राइवर भी बन गई हैं.

राष्ट्रीय पोषण सप्ताह 2018 : स्वस्थ रहे मस्त रहे

30 वर्षीया साहू मीडिया से बात करते हुए कहती हैं कि उन्हें अपने लिंग के कारण काफी भेदभाव का सामना करना पड़ा था, इसी कारण उन्हें कई जगह नौकरी भी बदलनी पड़ी थी. उन्होंने कहा कि "मैं दूसरों के समान अवसर पाने के लिए संघर्ष कर रहा थी क्योंकि ट्रांसजेंडर लोगों के लिए नौकरी पाने और प्रशिक्षण / लाइसेंस आदि पाना मुश्किल है, लेकिन सर्वोच्च न्यायालय के फैसले के बाद 'ट्रांसजेंडर' को तीसरे 'लिंग' के रूप में मान्यता मिली, यह ट्रांसजेंडर लोगों के लिए आसान हो गया.

आर्थिक संकट की ओर बढ़ता भारत, एक डॉलर की कीमत हुई 71 रूपये

कैब चलाने के अनुभव के बारे वे कहती हैं कि शुरुआत में मुझे इसमें कुछ दिक्कतें आईं, लेकिन फिर मैंने देखा कि महिला सवारी मेरे साथ सुरक्षित महसूर करती हैं तो मेरा हौसला बढ़ा. पुरुष सवारियों के बारे में पूछने पर वे कहती हैं कि मुझे अपनी लिंग पहचान के कारण पुरुष यात्रियों के साथ किसी भी कठिनाई का सामना नहीं करना पड़ा, और मैं इसके बारे में खुश हूं."

खबरें और भी :-​

आतंकियों ने पुलिसवालों के परिजनों को किया अगवा

नेशनल बैंक ने युवाओं से मांगे आवेदन, यह है अंतिम तिथि

करियर नेशनलिस्ट है यशवंत सिन्हा और अरुण शौरी : अरुण जेटली

?