शराब दूकान खुलते ही इस राज्य में बरसा धन, हुई इतने करोड़ की कमाई

शिलांग: कोरोना माहमारी के चलते देशभर में लागू लॉकडाउन के दौरान शराब की दुकानें खोलने की अनुमति मिलने के बाद मेघालय सरकार ने शराब की दुकानों से राजस्व के रूप में 6 करोड़ रुपये जुटाए हैं। डिप्टी सीएम प्रिस्टोन तिनसॉन्ग ने इसकी जानकारी दी। हालांकि, अधिकारियों ने ग्राहकों और दुकान मालिकों से फिजिकल डिस्टेंसिंग के नियमों का सख्ती से पालन करने का अनुरोध किया है। इसमें विफल रहने पर दुकानों को बंद रखने का आदेश दिया जाएगा।

कोरोना वायरस के कारण देशभर में लागू लॉकडाउन के बीच राज्यों ने शराब की दुकानें खोल दी हैं। इसके बाद शराब के ठेकों पर भीड़ चिंता बनी तो प्रदेशों ने इसके लिए विभिन्न नुस्खे निकालना शुरू कर दिया, ताकि राजस्व भी बढ़े और लोगों को परेशानी कम हो। इसके लिए कहीं लोगों की उंगली पर स्हायी लगाई जा रही तो कहीं घर पहुंच सेवा की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा राज्य कोरोना चार्ज, ई-टोकन समेत कई अन्य उपाय आजमा रहे हैं।

शीर्ष अदालत ने शराब की दुकानों को बंद कराने को लेकर दाखिल की गई याचिका पर आदेश देने से इंकार कर दिया है। हालांकि, अदालत ने कहा कि राज्य सरकारें परोक्ष बिक्री जैसे ऑनलाइन या घर पहुँच सेवा पर विचार कर सकती हैं। बता दें कि इस याचिका में शराब के ठेकों को बंद करने का आदेश देने की मांग की गई थी। याचिका में कहा गया था कि भीड़ लगने से सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन हो रहा है, ऐसे में शराब की दुकानों को खोलने पर पाबन्दी लगाई जानी चाहिए।

Indigo : कंपनी ने कर्मचारियों को वेतन के मामले में दिया तगड़ा झटका

व्हाइट हाउस में गूंजे वेद मंत्र, कोरोना से मुक्ति के लिए राष्ट्रपति ट्रम्प ने कराया 'शांति पाठ'

मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस : भारत में निवेश के जोखिम पर बोली यह बात

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -