देशभर के कोने- कोने में कोरोना वैक्सीन पहुंचाने का अभियान हुआ शुरू

Jan 13 2021 09:25 AM
देशभर के कोने- कोने में कोरोना वैक्सीन पहुंचाने का अभियान हुआ शुरू

नई दिल्ली: देश में 16 जनवरी के कोविड-19 वैक्सीन लगाई जाने वाली है। मंगलवार को देश के 13 शहरों में कोविशील्ड की डिलीवरी हुई, आज 20 शहरों में यह वैक्सीन पहुंचाई जाएगी। इस मध्य खबर है कि भारत बायोटेक की वैक्सीन 'कोवैक्सीन' की पहली खप हैदराबाद से दिल्ली पहुंच  चुकी है। जिसकी पहली खेप सुबह 6 बजकर 50 मिनट पर एयर इंडिया की फ्लाइट AI 559 से दिल्ली पहुंच चुकी है। हैदराबाद से कोवैक्सीन के 3 बॉक्स दिल्ली एयर पोर्ट पर पहुंचे, जिनका वजन 80।5 किलोग्राम है।

जंहा इस बात का पता चला है कि केन्द्र सरकार ने देश में 16 जनवरी से शुरू होने वाले टीकाकरण अभियान से पहले सोमवार को 'सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया' (एसआईआई) और 'भारत बायोटेक' को कोरोना वायरस के टीके की छह करोड़ से अधिक खुराक के लिए ऑर्डर दिए जा चुके है। इस ऑर्डर की कुल मूल्य तकरीबन 1,300 करोड़ रुपये होगी। मिली जानकारी के अनुसार केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने बोला कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया से कोविशील्ड की 1।1 करोड़ खुराक के अतिरिक्त भारत बायोटेक से कोवैक्सीन की 55 लाख खुराक खरीद रहे है। उन्होंने कहा, ''भारत बायोटेक से कोवैक्सीन की 55 लाख खुराक खरीदी जा रही है। कोवैक्सीन की 38।5 लाख खुराक में से प्रत्येक पर 295 रुपये (कर को छोड़कर) की लागत आएगी। भारत बायोटेक 16।5 लाख खुराक निशुल्क मुहैया करा रही है, जिससे इसकी लागत प्रत्येक खुराक पर 206 रुपये आएगी।''

विश्व भर में उपलब्ध टीकों की मूल्यों के बारे में भूषण ने बोला कि फाइजर-बायोएनटेक के टीके की लागत प्रति खुराक 1431 रुपये आती है। मॉडर्ना के टीके की खुराक का मूल्य 2348 रुपये से लेकर 2715 रुपये तक, नोवावैक्स के टीके 1114 रुपये, स्पूतनिक वी के टीके 734 रुपये और जॉनसन एंड जॉनसन द्वारा निर्मित टीके का मूल्य 734 रुपये है। उन्होंने बोला, ''फाइजर के टीके को छोड़कर सभी टीकों को दो से आठ डिग्री सेल्सियस तापमान पर रखा जा सकता है। फाइजर के टीके को शून्य से 70 डिग्री सेल्यसयस नीचे के तापमान पर रखना पड़ता है।'' वहीं अपनी बात को जारी रखते हुए उन्होंने आगे कहा- टीके की खुराक देने के 14 दिन बाद प्रभाव देखने को मिलेगा। लोगों से कोविड-19 के संबंध में उचित व्यवहार का पालन करने का आग्रह किया जाता है। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने कहा, ''दुनिया में कोविड-19 की स्थिति चिंताजनक है, भारत में संक्रमण के रोजाना के मामले घट रहे हैं लेकिन हम ढिलाई नहीं बरत सकते।''

बड़ी खबर: 18 जनवरी से इस शहर में शुरू होंगे सभी स्कूल

यमुना नदी में बढ़ा अमोनिया का स्तर, दिल्ली के कई इलाकों में हुई पानी की किल्लत

अखिलेश पर बरसे ओवैसी, कहा- 'सपा अब मात्र फेसबुक पर दिख रही है'