पुत्र के खातिर 32 सालों तक बिना सैलरी के संभाल रहे है ये शख्स ट्रैफिक

कभी ऐसा सुना है कि कोई मनुष्य बिना कोई सैलरी के कार्य कर रहा हो, वो भी हर दिन. सिर्फ ये ही नहीं वो भी 32 सालों तक लगातार काम. कोई व्यक्ति रोज ट्रैफिक लाइट्स पर जाता है, वहां का ट्रैफिक भी क्लीयर करवाता है. इसके बाद कोई सैलरी नहीं लेता है. ऐसा कभी अपने नहीं सुना होगा. लेकिन दिल्ली के सीलमपुर रेड लाइट पर एक ऐसे ही बुजुर्ग व्यक्ति हैं. वो गत 32 वर्षों से ट्रैफिक क्लीयर करवाने का काम कर रहे हैं. लेकिन उन्होंने इसके लिए कभी पैसे नहीं लिए है.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, इन व्यक्ति का नाम गंगाराम है. गत 32 सालों से हर रोज वो ट्रैफिक पुलिस की तरह से कपड़े पहनाकर रेड लाइट पर ट्रैफिक मैनेज करते नजर आते हैं. गंगाराम जी की उम्र 72 साल है. वो हर रोज प्रातः नौ बजे से रात्रि के दस बजे तक ट्रैफिक क्लीयर करवाते हैं. वो अपना कार्य बड़ी ही शिद्दत के साथ पूरा करते हैं. पहले वो सीलमपुर में ही टेलेविसिओ रिपेयर का कार्य करते थे. लेकिन अंतिम में ऐसा क्या हुआ है जो की वो रेड लाइट पर जाकर ट्रैफिक क्लीयर करवाने में जुट गए? 

दरअसल उनका इकलौता पुत्र इसी सीलमपुर रेड पर सड़क घटना  का शिकार हो गया था. उसकी मृत्यु हो गई थी. पुत्र की मृत्यु के बाद गंगाराम की वाइफ भी कुछ दिनों में चल बसी. उस दिन के बाद से ही वो ट्रेफिक सिग्नल पर लोगों की भलाई का ये कार्य करने जुट गए. ताकि किसी और का बच्चा सड़क घटना का शिकार ना हो सके. गवर्नमेंट की तरफ से भी उन्हें इस अच्छे काम के लिए कई दफा सम्मानित किया जा चुका है. यहां तक कि उनके पास मोबाइल फोन नहीं था. पुलिस की तरफ से उन्हें एक मोबाइल फोन भी दिया गया.

आखिर क्यों इंसानों का शिकार करती हैं शार्क मछलियां, जाने वजह

12 साल बाद अपनी बेटी और नातिन से मिली बुज़ुर्ग हथिनी, तस्वीर जीत रही है दिल

इस चाहत में युवक ने कटवा दिए अपने कान और टैटू-पीयर्सिंग से भर लिया शरीर

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -