कोरोना मरीजों को अपने खर्चे से अस्पताल पहुंचाता है ये बहादुर जवान

कोरोना मरीजों को अपने खर्चे से अस्पताल पहुंचाता है ये बहादुर जवान

पूरी दुनिया कोरोना वायरस से जूझ रही है.   भारत में भी कोरोना का संक्रमण तेजी से फलता जा रहा है.   हाल ही में एक मामला मुंबई से सामने आया है . हालांकि ये बात एक महीने पुरानी है. अपने ट्विटर पर क्रिएटिविटी के लिए मशहूर मुंबई पुलिस ने एक ट्वीट किया था. इसका कैप्शन उन्होंने लिखा, ‘एक सर्वव्यापक कोविड वॉरियर’, इसमें जो शख्स दिख रहे हैं वो हैं कॉन्स्टेबल तेजेश सोनावाने. उन्होने कोरोना के इस दौर में कोरोना से संक्रमित लोगों की मदद के लिए एक नेक काम किया है. तेजेश खुद अपने खर्चे से लोगों पर, वो भी अपनी एंबुलेंस से मरीजों को अस्पताल पहुंचाते हैं.

इस बारें में मीडिया को उन्होंने बताया, ‘मैंने अपने दोस्त को बताया कि मुझे उसकी कार चाहिए जिसे मैं एंबुलेंस में कन्वर्ट करना चाहता हूं. मैं चाहता हूं कि इस कोरोना के दौर लोगों को जल्द से जल्द अस्पताल पंहुचाया जाए. ’

बता दें की 4 जून को उन्होंने यह सर्विस शुरू की थी. अभी तक वो 18 मरीजों को अस्पताल पहुंचा चुके हैं. इस बारें में  उन्होंने बताया कि वैन को उन्होंने ज्यादा मॉडिफाइ नहीं किया. बस उन्होंने इसे दो भांगों में बांट दिया है. पीछे मरीज के लिए एक और आगे एक परिजन बैठ सकता है. वो इस बारें में बताते हैं, ‘खासतौर पर इससे मैं उन लोगों की मदद करना चाहता हूं, जो लोग पैसे देकर एंबुलेंस नहीं बुलवा सकते. ’ यहां तक कि वो पीपीई किट पहनकर वैन चलाते हैं. पेट्रोल का खर्च भी खुद ही उठाते हैं. लोग उन्हें कभी भी कॉल कर ले, वो मदद के लिए हमेशा तैयार रहते हैं. तेजेश के इस नेक काम की सराहना डीसीपी साहब ने भी की है. उन्होंने 5000 रुपये इनाम के तौर पर भी दिए. जब उनसे पूछा गया कि उन्हें कोरोना से डर नहीं लगता. तो वो कहते हैं, ‘सेवा करनी है तो डर कैसा, लोग तकलीफ में हैं, तो ये नहीं हो सकता. ’  हालांकि हम सब मुंबई पुलिस के इस जवान को दिल से सलाम तो करते है.

जो जिंदगी में है निराश तो एक बार जरुर देखे ये वीडियो

जब बिल्ली ने चखा आइसक्रीम का स्वाद, तो आया ऐसा ड्रामेटिक रिएक्शन

कुत्ते को शेर से बचाने के लिए शख्स ने लगाया अनोखा जुगाड़